ममता की रैली में शामिल होने पर भड़के केंद्रीय मंत्री ने PM मोदी और अमित शाह को टैग कर लिखा- “शत्रुघ्न सिन्हा ‘खामोश’ ही रहें तो अच्छा है”

0

कोलकाता में विपक्षी महागठबंधन की रैली में शनिवार को शामिल हुए अभिनेता से राजनेता बने शत्रुघ्न सिन्हा के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) कार्रवाई कर सकती है। बीजेपी ने शनिवार को कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ संयुक्त विपक्ष की रैली में पार्टी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा की मौजूदगी का वह संज्ञान लेगी। इसके साथ ही बीजेपी प्रवक्ता राजीव प्रताप रूड़ी ने सिन्हा को ‘‘अवसरवादी’’ बताया। उन्होंने कहा, “पार्टी इसका संज्ञान लेगी।”

शत्रुघ्न सिन्हा

बता दें कि पूर्व केंद्रीय मंत्री और पटना से सांसद सिन्हा ने तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा कोलकाता में आयोजित रैली में हिस्सा लिया, जहां उन्होंने मोदी और केंद्र की बीजेपी नीत सरकार के खिलाफ बोला। राफेल विवाद पर उन्होंने कहा, “मैं यह नहीं कह रहा हूं कि आप (पीएम नरेंद्र मोदी) दोषी हैं और न ही यह कह रहा हूं कि आप निर्दोष हैं। लेकिन जब सवालों के जवाब नहीं दिए जा रहे हैं, तो लोग कहेंगे कि ‘चौकीदार चोर’ है।”

बीजेपी के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा, “पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के एम्स से लौटने पर उनको पार्टी से निलंबित किया जा सकता है। उन्होंने अब सीमा पार कर दी है, क्योंकि उन्होंने सीधा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है।” वहीं, बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव प्रताप रूडी ने एक प्रेस कॉन्फेंस में सिन्हा को ‘‘अवसरवादी’’ बताते हुए कहा कि सांसद के नाते सभी सुविधाओं के लिए वह पार्टी में भी हैं और साथ ही विभिन्न मंचों पर अलग-अलग राय भी व्यक्त कर रहे हैं।

रूडी ने कहा, ‘‘सिन्हा विभिन्न मंचों पर पार्टी के खिलाफ बोल रहे हैं। यह महत्वपूर्ण है कि बीजेपी ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करे और पार्टी इसका संज्ञान लेगी।’’ रूडी ने सिन्हा पर निशाना साधते हुए कहा कि कुछ लोग ‘‘अलग-अलग तरीके से बुद्धिमान’’ होते हैं। वे पार्टी व्हिप का भी पालन करते हैं ताकि उनकी सदस्यता खत्म नहीं हो। उन्होंने कहा, ‘‘इसके साथ ही वे इतने अवसरवादी होते हैं कि…और किसी भी सम्मेलन में हिस्सा ले सकते हैं। बीजेपी इसका संज्ञान लेगी।’’

केंद्रीय मंत्री ने साधा निशाना

ममता की रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के खिलाफ हमला बोलने पर पार्टी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा बीजेपी नेताओं के साथ-साथ अब केंद्रीय मंत्रियों के भी निशाने पर आ गए हैं। केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने सिन्हा के रैली में जाने पर तंज कसते हुए उन्हीं के अंदाज में कहा कि बीजेपी सांसद खामोश ही रहे तो अच्छा है।

सुप्रियो ने शनिवार (19 जनवरी) को ट्वीट कर लिखा, “शत्रुघ्न सिन्हा जी कह रहे हैं कि “मैं जो कुछ भी कहता हूं, जो कुछ भी करता हूं, भारत की जनता के हित के लिए है देश के लिए है” कोई उनसे पूछे कि उन्होंने “कहा” तो बहुत कुछ है लेकिन देश हित के लिए अभी तक “किया” क्या है? इसलिये वो “खामोश” ही रहें तो अच्छा है।”

सुप्रियो ने अपने इस ट्वीट में शत्रुघ्न सिन्हा, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी बंगाल और रूपा गांगुली जैसे नेताओं को टैग किया है।

सोशल मीडिया पर लोगों ने लिए मजे

बीजेपी के खिलाफ ममता की रैली में शत्रुघ्न सिन्हा के शामिल होने पर सोशल मीडिया पर लोग जमकर मजे ले रहे हैं। एक यूजर ने तंज सकते हुए लिखा, “शत्रुघ्न सिन्हा जितना भाजपा में रहकर उसे परेशान कर रहे हैं उससे ज्यादा भाजपा उन्हें पार्टी से ना निकलकर टॉर्चर कर रही है”

वहीं, एक अन्य यूजर ने लिखा, “कोलकाता में विपक्ष की रैली में हिस्सा लेकर पीएम मोदी पर हमले बोलने के बावजूद अगर बीजेपी अपने सांसद शत्रुघ्न सिन्हा के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई नहीं करती है तो यह पार्टी का अंदरूनी लोकतंत्र नहीं बल्कि नेतृत्व की कमजोरी मानी जाएगी।”

बता दें कि कोलकाता में विपक्षी नेताओं के साथ शनिवार को मंच साझा करते हुए बीजेपी के असंतुष्ट नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने आगामी लोकसभा चुनाव में सरकार बदलने का आह्वान किया और कहा कि वह सत्तारूढ़ दल से हटाए जाने से नहीं डरते। उन्होंने कहा कि वह पार्टी को आईना दिखाना जारी रखेंगे। सिन्हा कई मुद्दों पर अपनी पार्टी से नाराज हैं और नोटबंदी, जीएसटी लागू करने जैसे कई कदमों की उन्होंने आलोचना की है।

उन्होंने कहा कि कोलकाता में तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी द्वारा आयोजित रैली में वह ‘राष्ट्र मंच’ के प्रतिनिधि के तौर पर हिस्सा ले रहे हैं। इस संगठन की स्थापना बीजेपी के पूर्व नेता यशवंत सिन्हा ने की है। रैली में शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा, ‘‘मेरे बड़े भाई यशवंत सिन्हा कह रहे थे कि इसके बाद पार्टी से मुझे जरूर निकाल दिया जाएगा। मैंने उनसे कहा कि कोई बात नहीं।’’

उन्होंने विवादास्पद राफेल लड़ाकू विमान सौदा, नोटबंदी और जीएसटी के क्रियान्वयन को लेकर मोदी सरकार की आलोचना की। उन्होंने कहा, ‘‘अगर आप तथ्यों को दबाए रखते हैं तो लोग तो कहेंगे कि चौकीदार चोर है।’’ राफेल सौदे को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करते हुए अक्सर इस तरह के शब्द बोलते हैं।सिन्हा ने ममता बनर्जी, राहुल गांधी, सपा नेता अखिलेश यादव और राजद नेता तेजस्वी यादव की सराहना की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here