स्मार्टफोन के कॉन्टेक्ट लिस्ट में अपने आप सेव हो रहा आधार कार्ड का हेल्पलाइन नंबर, UIDAI ने दी सफाई

0

पिछले काफी समय से आधार और डेटा सुरक्षा को लेकर चर्चा जारी है। इसी बीच, आधार से जुड़ा एक और अजीबोगरीब मामला सामने आया है। दरअसल ऐसा देखा जा रहा है कि कुछ लोगों के मोबाइल में अपने आप यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) के नाम से आधार का कथित हेल्पलाइन नंबर सेव हो जा रहा है। इस नंबर के बारे में जानने के लिए लोग लगातार ट्विटर पर शिकायत कर रहे हैं।

aadhaar

विवाद बढ़ता देख यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) ने कुछ मोबाइल फोन्स की अड्रेस बुक में आधार का कथित हेल्पलाइन नंबर दिखने की रिपोर्ट्स पर बयान जारी किया है। UIDAI ने जो टोलफ्री नंबर (1800-300-1947) यूजर्स के फोनबुक में सेव हो रहा है उसे अवैध बताया है।

इसके साथ ही UIDAI का कहना है यह किसी की शरारत है और वह आम लोगों में भ्रम की स्थिति पैदा करना चाहता है। बताया गया कि यूआइडीएआइ का टोलफ्री नंबर 1947 है और यह 2 साल से ज्यादा समय से चालू है। UIDAI ने स्पष्ट किया है कि उसने किसी भी टेलिकॉम कंपनी को अपना हेल्पलाइन नंबर यूजर्स के कॉन्टैक्ट लिस्ट में फीड करने को नहीं कहा है।

लोगों कि मानें तो उनका कहना है कि उनके मोबाइल में कॉन्टैक्ट लिस्ट में अपने आप UIDAI के नाम से एक टोल फ्री नंबर सेव हो गया है। जबकि उन्होंने इसे कभी सेव ही नहीं किया है। लोगों का कहना है कि टेलिकॉम कंपनियां खुद-ब-खुद UIDAI का हेल्पलाइन नंबर यूजर्स के फोन के कॉन्टैक्ट लिस्ट में डाल रही है।

लोग द्वारा लगातार स्क्रीनशॉट शेयर किए जाने के बाद UIDAI ने सफाई दी है। UIDAI ने सफाई देते हुए ट्विटर पर बताया है कि यूजर्स के फोन में जो नंबर सेव हुआ है वह 1800-300-1947 है। यह हेल्पलाइन नंबर पुराना है और इनवैलिड भी। UIDAI ने कहा है कि यह लोगों के बीच असमंजस पैदा करने के लिए किया गया काम है।

दरअसल यह नंबर कुछ एंड्रॉयड यूजर्स के फोन में सेव मिला है। UIDAI ने यह भी साफ किया है कि जो नंबर लोगों के फोन में सेव है, वह पिछले 2 साल से इनवैलिड है। UIDAI का नया टोल फ्री नंबर 1947 है। UIDAI ने मीडिया रिपोर्ट्स पर जवाब देते हुए कहा है कि उन्होंने किसी भी सर्विस प्रोवाइडर से इस प्रकार की सेवा देने के लिए नहीं कहा है।

यूजर हैरान हैं कि आखिर बिना उनके नंबर सेव किए फोनबुक में ये नंबर आया कैसे? लोगों को समझ नहीं आ रहा है कि ये सब कैसे अपने आप ही हो गया? इलियट एल्डरसन नाम के फ्रांस के एक सुरक्षा विशेषज्ञ ने ट्वीट करते हुए UIDAI से पूछा कि कई लोग हैं जिनके प्रोवाइडर्स अलग-अलग हैं।

कई लोग बगैर आधार कार्ड के भी हैं। सभी के फोन में mAadhaar ऐप भी इस्टॉल्ड नहीं है, इसके बावजूद उनके फोन में, बगैर जानकारी के आधार का टोल फ्री नंबर सेव नजर आ रहा है। क्या आप बता सकते हैं ऐसा क्यों? इस ट्वीट के बाद ट्विटर पर बहुत से लोगों ने अपने अड्रेस बुक का स्क्रीनशॉट शेयर करना शुरू कर दिया।

https://twitter.com/sidagarwal/status/1025286333554733056/photo/1?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1025286333554733056&ref_url=https%3A%2F%2Fhindi.firstpost.com%2Fsocial-viral%2Fuidai-number-has-mysteriously-appeared-in-mobile-contact-list-check-your-phone-ta-132625.html

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here