VIDEO: इस बुजुर्ग महिला की टाइपिंग स्पीड देख हैरान हो जाएंगे आप, सहवाग ने बताया- ‘सुपरवुमन’

0

कहते हैं कि मन में कुछ कर गुजरने का हौसला बुलंद हो तो कामयाबी आपके कदम खुद-ब-खुद चुमती है। ऐसा ही कुछ मध्यप्रदेश के सिहोर में रहने वाली इस बुजुर्ग महिला ने कर दिखाया है। जिसका वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। यहां 72 साल की एक बुजुर्ग महिला टाइपिस्ट काम करती हैं और अपने कमाए पैसे से जीवन यापन करती हैं और वह पिछले कई सालों से यही काम कर रही हैं।

दरअसल, भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व धुरंधर बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने मंगलवार(12 जून) को अपने ट्विटर अकाउंट पर एक बुजुर्ग महिला टाइपिस्ट वीडियो पोस्ट किया जो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस महिला की टाइपिंग स्पीड इतनी तेज है कि जिसे देखकर आप भी हैरान हो जाएंगे।

वीरेंद्र सहवाग ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा, “मेरे लिए ये एक सुपरवूमन हैं। ये एमपी के सिहोर में रहती हैं, देश के युवा इनसे बहुत कुछ सीख सकते हैं। न सिर्फ इनकी टाइपिंग स्पीड बल्कि ये हमें संदेश देती हैं कि कोई भी काम छोटा नहीं होता है और काम करने के लिए उम्र बाधा नहीं बनती है। प्रणाम!”

एबीपी न्यूज़ की रिपोर्ट के मुताबिक, इस बुजुर्ग महिला का नाम लक्ष्मी वर्मा है और वह सिहोर ड्रिस्ट्रिक्टर कलेक्टर ऑफिस में बतौर टाइपिस्ट का काम करती हैं। अपने पति से विवाद होने के बाद से लक्ष्मी वर्मा ने इंदौर के एक प्रिंटिंग फर्म में काम करना शुरू किया था। उन्होंने इसी फर्म से टाइपिंग सीखी, कुछ दिन बाद वो वापस सीहोर लौट आईं।

एक दिन सिहोर के डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर राघवेन्द्र सिंह (जो अब इंदौर में डिविजनल कमिश्नर के पद पर तैनात हैं) और एसडीएम भावना वालिम्बे ने इनकी टाइपिंग स्पीड देखी तो वे काफी ज्यादा प्रभावित हुए। इन्होंने लक्ष्मी शर्मा को कलेक्टर ऑफिस में काम करने की जगह दी और इनके काम को काफी बढ़ावा दिया।

रिपोर्ट के मुताबिक लक्ष्मी शर्मा ने कहा, “मैं यहां पिछले 12 सालों से काम कर रही हूं, मैंने इंदौर के एक प्रिंटिंग प्रेस में काम करने के दौरान टाइपिंग सीखी थी। डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर राघवेन्द्र सिंह ने मुझे यहां पर काम करने में मदद किया।”

देखिए वीडियो :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here