सोशल मीडिया पर आपस में भिड़े फिल्ममेकर और आज तक की एंकर चित्रा त्रिपाठी

0

वरिष्ठ पत्रकार और फिल्ममेकर विनोद कापड़ी पिछले दिनों इंसानियत को जिंदा रखने वाला एक शानदार कदम उठाया था, जिसकी सोशल मीडिया पर जमकर तारीफ हुई थी। कापड़ी ने राजस्थान के नागौर में कूड़े के ढेर में मिली एक नवजात बच्ची को गोद लेने की इच्छा जाहिर की थी। उन्होंने एक ट्वीट के जरिए इसकी घोषणा की थी। इसके बाद उन्हें बधाई देने वालों का तांता लग गया। वहीं, सोशल मीडिया में भी लोग उनके इस कदम की खूब तारीफ की।

चित्रा त्रिपाठी

कापड़ी नवजात बच्ची से जुड़े हर अपडेट ट्वीट कर रहे हैं। उन्होंने नवजात बच्ची को ‘पीहू’ नाम दिया है। विनोद ने अपनी पत्नी साक्षी जोशी के साथ हाल ही में बच्ची को गोद लेने के लिए कानून प्रक्रिया के लिए नागौर जिलाधिकारी से मुलाकात की थी। वह लगातार डॉक्टरों से मिलकर बच्ची की खबर लेते रहते हैं। इस बीच बच्ची को लेकर आज तक की एंकर चित्रा त्रिपाठी और विनोद कापड़ी ट्विटर पर आपस में भिड़ गए। दोनों के समर्थकों के बीच आपस में काफी वार-पटलवार हुआ।

यह विवाद आम आदमी पार्टी के बागी विधायक कपिल मिश्रा के एक ट्वीट से शुरू हुआ। कपिल ने एक ट्वीट कर लिखा, “मजबूर बच्ची के नाम पर धंधा, बच्ची को कुछ लोगों ने बचाया, बिना कुछ किये क्रेडिट विनोद कापरी ने लेना शुरू कर दिया, अस्पताल जाकर बच्ची के पैर पर अपनी फिल्म “Pihu” का टैग बांध दिया, गोद लेने की खबरें छपवा दी, #PihuOnNetflix ट्रेंड कर दिया, गोद लेने की कोई प्रक्रिया तक शुरू नहीं की”

कपिल मिश्रा के इस ट्वीट पर आजतक की एंकर चित्रा त्रिपाठी ने लिखा, “सच कह दो बुरा मान जाते हैं लोग… मासूम को जब ट्विटर पर लाकर सेल करने की कोशिश हुई, तभी लगा था कि उसकी किस्मत इतनी अच्छी नहीं जितना दिखाने की कोशिश की गई.हे ईश्वर! उस मासूम का ख्याल रखियेगा 🙏🏻”

इस पर विनोद कापड़ी ने पटलवार करते हुए ट्वीट किया, “उस बच्चे की क़िस्मत का क्या कहा जाएगा, जिसकी माँ अपने 6 महीने के बेहद छोटे और मासूम से बेटे को छोड़कर पुणे से मुंबई के होटल में पहुंच कर एक साल तक सहारा ढूँढती रही।” हालांकि, विनोद कापड़ी का यह ट्वीट उनके ट्विटर अकाउंट पर नहीं है, लेकिन चित्रा ने इसका स्क्रीनशॉट शेयर किया है। इसके जवाब में चित्रा ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर पटलवार किया है।

एक ट्वीट में चित्रा ने लिखा, “छोटे शहर की एक लड़की जो बहुत मेहनत करती है,अपने अंदर उस छोटे शहर की मानवीय संवेदना को हमेशा जिंदा रखती है.कम उम्र में #रामनाथ_गोयनका के अलावा कई छोटे बड़े अवॉर्ड अपने नाम करती है.उसकी काबिलियत पर सवाल उठा नहीं सकते तो नीचा दिखाने के लिये चरित्र पर उंगली उठा दो, जिससे चुप हो जाये.”

चित्रा ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, “विनोद कापड़ी एण्ड गैंग,मेरे चरित्र पर उंगली उठायें,मुझे घटिया कहें,एक महिला को जो भी गाली दे सकते हैं दे दें,मुझे सब सहर्ष स्वीकार है क्योंकि जिसकी #दाल_नहीं_गलती वो यही हरकत करता है,लेकिन उस मासूम के साथ जो घिनौनी पब्लिसिटी पानी की आपने कोशिश की है,वो मैं हरगिज नहीं होने दूंगी.”

आजतक की एंकर अपने अगले ट्वीट में लिखा, “जो गाली आपने दी है वो कम है.प्लीज और लिखिये.मैं इंतजार कर रही हूं,आप मुझे इतनी गाली दीजिये ताकि महिलाओं को लेकर आपकी #भैंस_मानसिकता (इसी पर फिल्म थी आपकी) सड़क पर आ जाये.आज आपने मेरे #चरित्र पर सवाल किया है कल कोई और महिला आपके शिकंजे में ना आये इसलिये तुम्हें सबक सिखाना जरुरी है”

विनोद की पत्नी साक्षी जोशी ने एक ट्वीट में बिना किसी का नाम लिए लिखा, “एक सगी मां थी .. अपने दुधमुँहे बेटे को छोड़कर एक साल ग़ायब रहीं। दूसरों से पूछ रही है बच्ची कैसी है? खुद टीवी पत्रकार एंकर कहती है अपने आप को. खुद अस्पताल में पता करने में शर्म आ रही है इन्हें. इनसे क्या उम्मीद जो अपने खून तक के न हो सके”

गौरतलब है कि विनोद कापड़ी वरिष्ठ पत्रकार और फिल्ममेकर हैं। उन्होंने ‘मिस टनकपुर हाजिर हो’, ‘कान्ट टेक दिस शिट एनीमोर’ और ‘पीहू’ जैसी फिल्मों का निर्देशन किया है। उन्हें साल 2014 में डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘कान्ट टेक दिस शिट एनीमोर’ के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार मिल चुका है। मिस टनकपुर हाज़िर हो के जरिए एक सामाजिक-कानूनी व्यंग्य के साथ अपनी फीचर शुरुआत की, जिसे व्यापक आलोचनात्मक प्रशंसा मिली।

विनोद कापड़ी ने हाल ही में हिंदी समाचार चैनल ‘टीवी9 भारतवर्ष’ के मैनेजिंग एडिटर के पद से इस्तीफा दिया है। बताया जा रहा है कि विनोद कापड़ी ने अपनी नई फिल्म का ऐलान कुछ दिनों पहले किया था और अब वे पूरा वक्त अपनी फिल्म को देंगे। कापड़ी के नेतृत्व में ही 31 मार्च 2019 को टीवी9 भारतवर्ष की लांचिंग हुई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here