‘ब्राह्मण विरोधी पोस्टर’ थामकर विवादों में फंसे ट्विटर के सीईओ, कंपनी को देनी पड़ी सफाई

0

माइक्रो ब्लागिंग साइट ट्विटर के सह-संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) जैक डोरसे कथित ब्राह्मणवाद विरोधी एक पोस्टर को हाथ में थामने की वजह से विवादों में आ गए हैं। इस पोस्टर की वजह से सोशल मीडिया पर डोरसे की काफी आलोचना हो रही है। सोशल मीडिया पर तीखी आलोचना के बाद मंगलवार (20 नवंबर) को ट्विटर को इसके लिए सफाई देनी पड़ी। ट्विटर ने इस मामले को शांत करते हुए कहा है कि वह हर तबके की आवाज सुनने में यकीन करता है।

दरअसल पिछले हफ्ते डोरसे भारत दौरे पर आए थे। जहां उन्होंने महिला पत्रकारों के साथ एक गोलमेज बैठक के बाद एक फोटो हाथ में लेकर तस्वीर खिंचवाई थी, जिस पर Smash Brahmanical Patriarchy यानी ‘ब्राह्मणवादी पितृसत्ता को खत्म करो’ नारा लिखा था। ट्विटर पर इस तस्वीर के सामने आते ही डोरसे को आलोचनाओं का शिकार होना पड़ा। आलोचना खासकर दक्षिणपंथी विचारधारा की तरफ झुकाव रखने वाले यूजर्स द्वारा की गई। जैक पर एक जातीय समूह पर हमलावर होने का आरोप लगाया गया।

इस पोस्टर पर विवाद के बाद अब ट्विटर इंडिया ने माफी मांगी है। ट्विटर की कानूनी, नीति, भरोसा और सुरक्षा प्रमुख विजया गड्डे ने सोमवार देर रात ट्वीट किया, “मुझे इसके लिए खेद है। यह हमारे विचारों का प्रतिबिंब नहीं है। हमे एक निजी फोटो उपहार के रूप में प्राप्त हुआ था। हमें और अधिक विचारशील होना चाहिए था।” उन्होंने आगे कहा, “ट्विटर सभी के लिए निष्पक्ष मंच होने का प्रयास करता है। हम यहां ऐसा करने में नाकाम रहे हैं और हमें भारत में अपने ग्राहकों की सेवा करने के लिए बेहतर करना होगा।”

इसके अलावा ट्विटर इंडिया ने भी आनन-फानन में एक अनौपचारिक बयान जारी कर कहा कि पोस्टर जैक के दोस्तों ने उन्हें दिए थे…ट्विटर सभी की भावनाओं का सम्मान करने में यकीन रखता है। सोशल नेटवर्क के मुताबिक, महिला पत्रकारों के साथ बंद कमरे में चर्चा हुई थी। वे भारत में बदलाव की वाहक हैं और यह चर्चा उनके ट्विटर अनुभव को लेकर थी।

माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफार्म ने कहा, “इस चर्चा में एक दलित कार्यकर्ता भी सहभागी थी और उन्होंने अपने निजी अनुभवों को साझा किया और जैक को एक पोस्टर भेंट किया।” ट्विटर ने कहा, “यह ट्विटर या हमारे सीईओ का बयान नहीं है।” इस पोस्टर के वायरल होने के बाद कुछ यूजर्स ने डोरसे पर ‘कट्टरता’ और ‘नस्लवादी’ के आरोप लगाए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here