मध्य प्रदेश: किसान की आत्महत्या पर शिवराज सिंह चौहान और कमलनाथ में ट्विटर वार

0

मध्य प्रदेश के सीहोर जिले में एक किसान द्वारा आत्महत्या किए जाने के मामले ने सियासी रंग ले लिया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के बीच ट्वीटर वार छिड़ गया है। मुख्यमंत्री चौहान के गृह जिले सीहोर के गुडभैसा गांव में एक किसान बाबू लाल वर्मा (60) ने खेत पर पेड़ से लटककर आत्महत्या कर ली। आत्महत्या के कारण को लेकर सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच तकरार बढ़ गई है।

मध्य प्रदेश

दरअसल, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने किसान की आत्महत्या के पीछे फसल की बर्बादी को बताते हुए ट्वीट किया, “मुख्यमंत्री के गृह जिले सीहोर में एक किसान ने फसल खराब होने पर आत्महत्या कर ली। प्रदेश के बड़े हिस्से में पूर्व में ही सोयाबीन की फसल खराब हो चुकी है और अब अतिवर्षा और बाढ़ से भी करीब 15 लाख हेक्टेयर फसल प्रदेश के बाढ़ प्रभावित विभिन्न जिलों में खराब हुई है।”

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के ट्वीट का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मृतक किसान के बेटे के बयान के साथ एक ट्वीट किया है। किसान के बेटे ने कहा था कि उसके पिता बीमार रहते थे और उन पर किसी भी तरह का कर्ज नहीं था।

सीएम शिवराज ने वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, “कमलनाथ जी, आप कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष हैं, पूर्व मुख्यमंत्री हैं, नेता प्रतिपक्ष हैं। आपको ऐसी ओछी राजनीति करने से बचना चाहिए। कम से कम अपने पद की गरिमा का ध्यान तो रखिये।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here