IAS टॉपर टीना डाबी खान ने फेरन प्रतिबंध पर विवाद के बीच कश्मीरी पोशाक में की आधिकारिक बैठक, सोशल मीडिया पर लोग जमकर कर रहें है सराहना

0

जम्‍मू-कश्मीर में इन दिनों सर्दियों में पहनी जाने वाली यहां की पारंपरिक पोशाक फेरन को लेकर चर्चा का विषय बना हुआ है। ख़बरों के मुताबिक, कुपवाड़ा के शिक्षा विभाग ने पिछले दिनों एक आदेश जारी करके कश्‍मीर की पारंपरिक पोशाक फेरन पहनने पर अपने कार्यालयों में प्रतिबंध लगा दिया था। इसके बाद राज्‍य के लोगों ने सोशल मीडिया पर इस आदेश के खिलाफ व्‍यापक अभियान छेड़ दिया था। इसी बीच, आईएएस टॉपर व राजस्थान के भीलवाड़ा की एसडीएम टीना डाबी खान की भी फेरन को समर्थन देने के लिए सोशल मीडिया पर जमकर सराहना की जा रहीं है।

टीना डाबी खान

बता दें कि 2016 में भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) परीक्षा की टॉपर रहीं टीना डाबी खान का विवाह साथी आईएएस टॉपर अतहर आमिर-उल-शफी खान से हुआ है। कश्मीर के रहने वाले अतहर ने यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में दूसरा स्थान हासिल किया था। टीना और आमिर ने इस साल की शुरुआत में शादी की थी। शादी के पवित्र बंधन में बंधने के बाद से ही दोनों मीडिया की सुर्खियों में बने हुए हैं। शादी के बाद से टीना डाबी के सोशल मीडिया पर फ्लॉवर्स की संख्या में भी इजाफा देखने को मिला है। इन दिनों टीना किसी बॉलीवुड सेलिब्रिटिज से कम नहीं है।

बता देें कि टीना डाबी ने हाल ही में अपने सरनेम के साथ ‘खान’ जोड़ा है। दरअसल, टीना ने अब तक अपने इंस्टाग्राम प्रोफाइल पर ‘दिल्ली वासी, कश्मीरी बहू, आईएएस, लिखा था।’ लेकिन हाल ही में उन्होंने अपने नाम के साथ ‘खान’ भी जोड़ दिया है। जिससे पता चलता है कि उसका नया नाम ‘टीना डाबी ख़ान’ है। इसके साथ ही इंस्टाग्राम ने टीना डाबी का पेज वेरीफाई कर दिया है।

टीना डाबी खान ने मंगलवार को इंस्टाग्राम अकाउंट पर अपने प्रशंसकों को जानकारी देते हुए बताया कि उन्होंने जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में हुई एक बैठक में कैसे भाग लिया था। उन्होंने बैठक की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा, कलेक्टर भीलवाड़ा द्वारा की गई बैठक की झलक इसमें सभी एसडीएम और टीडीआर ने भाग लिया। फोटो में दिख रहा है कि इस आधिकारिक बैठक के दौरान टीना डाबी खान थोड़ा सा परेशान दिख रही है।

उनके प्रशंसकों को पता चलता है कि इस आधिकारिक बैठक के दौरान टीना डाबी खान ने पारंपरिक पोशाक फेरन पहना था। जिसके बाद सोशल मीडिया पर लोग उनकी जमकर सराहना कर रहे है।

एक प्रशंसक शेनज वानी ने लिखा, हम इस तरह की एक बैठक में हमारे पारंपरिक पोशाक पहनने की सराहना करते हैं। आशा है कि उन्होंने आपको यह नहीं बताया कि वह इसे अपने लोगों की तरह पहनें। एक अन्य प्रशंसक ने लिखा, क्या आप कश्मीर में फेरन प्रतिबंध के बावजूद फेरन पहने हुए दिख सकते हैं! प्यार महोदय। एक और यूजर ने कहा, आप फेरन में वास्तव में सुंदर दिख रहे हैं। एक और यूजर ने टिप्पणी की, आप कश्मीरी फेरन पहने हुए हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले दिनों उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिल के लैंगेट के शिक्षा विभाग ने अपने ऑफिसों में कश्मीर की पारंपरिक पोशाक कश्मीरी फेरन (सर्दियों के दौरान पहना जाने वाला लंबा कोट) पहनने पर प्रतिबंध लगा दिया था। इसके बाद राज्‍य के पूर्व मुख्‍यमंत्री उमर अब्‍दुल्‍ला से लेकर आम कश्‍मीरी लोगों तक ने सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म पर इस आदेश के खिलाफ व्‍यापक अभियान छेड़ दिया था। विरोध को आगे बढ़ता देख शिक्षा विभाग को आखिरकार अपना यह आदेश वापस लेने के लिए मजबूर होना पड़ा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here