टाइम्स नाउ और रिपब्लिक चैनल को कांग्रेस ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस से पक्षपात के आरोपों की वजह से किया बाहर

0

मंगलवार को बेंगलुरु में कांग्रेस पार्टी द्वारा बुलाई गई एक प्रेस कॉन्फ्रेंस से दो अंग्रेजी चैनलों जिनमें टाइम्स नाउ और रिपब्लिक टीवी के प्रतिनिधियों को बाहर रखा गया।

पार्टी के मीडिया प्रमुख, रणदीप सुरजेवाला, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बेटे की स्वामित्व वाली कंपनी के कारोबार में लगी करोड़ों की छलांग के बारे में बात करने के लिए इस प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित कर रहे थे। कांग्रेस पार्टी की कर्नाटक इकाई ने दो चैनलों के प्रतिनिधियों को इस प्रेस वार्ता को कवर करने से रोकने का फैसला किया, जिसका कारण बताते हुए उन्होंने सत्तारूढ़ भाजपा के पक्ष में उनके स्पष्ट पूर्वाग्रह का आरोप लगाया।

सुरजेवाला ने कहा, जब आप सत्तारूढ़ दल के एजेंडे के रूप में काम करते है तो पहले से तैयार मानसिकता और फिक्स्ड एजेंडे के तहत ही काम करते है तो ऐसे में पत्रकारिता तो मर जाती है और उसके नाम पर दिखावा मात्र रह जाता है।

पत्रकारिता कांग्रेस या भाजपा, या सपा या किसी अन्य राजनीतिक दल के बारे में नहीं होती है। पत्रकारिता तो हमसे कठिन सवालों को पुछने के बारें में होती है जिसमें यह बताया जाता है कि हमने गलती कहां की है।

उन्होंने कहा कि टाइम्स नाउ और रिपब्लिक कांग्रेस के नेताओं पर नाराजगी दिखाते है। नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद से जय शाह की संपत्ति के बढ़ने पर चर्चा करने से इन चैनलों ने इंकार कर दिया था, लेकिन सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा को निशाना बनाने वाली बहसें इन पर चल रही है।

‘जनता का रिपोर्टर‘ ने अपनी विशेष रूप प्रकाशित अपनी रिपोर्ट में बताया था कि NDTV को छोड़कर सभी अंग्रेजी चैनल्स ने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल की प्रेस कॉन्फ्रेंस को ‘ब्लैकआउट’ कर दिया था, जिस दिन अमित शाह के बेटे जय शाह की कंपनी में कथित अनियमितताओं की खबर सामने आई थी।

हालांकि, जय शाह के बचाव में उतरे केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल के काउंटर प्रेस सम्मेलन को सभी चैनलों ने जबरदस्त तरीके से कवर किया था जो कि सिब्बल के मीडिया को सम्बोधित करने के कुछ घंटों के बाद आयोजित की गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here