तिग्मांशु धूलिया की ‘राग देश’ रेड फोर्ट ट्रायल के रहस्य से उठाएगी पर्दा, क्या दोहरी पाएगी ‘पान सिंह तोमर’ की सफलता?

0
>

28 जुलाई में निर्देशक तिग्मांशु धूलिया की ‘राग देश’ रिलीज होनी है जबकि इसी तारीख में मधुर भंडारकर की इन्दू सरकार भी रिलीज होनी है। ये दोनों ही फिल्में भारतीय इतिहास से जुड़ी हुई कहानियों को पेश करने जा रही हैं। ‘राग देश’ अपने ट्रेलर लांच में भी सुर्खिया बटोर चुकी है। पहली बार ऐसा हुआ था कि किसी फिल्म के ट्रेलर को संसद में रिलीज किया गया था।

Also Read:  कवि सम्मेलन के मौके पर हास्य कवि पॉपुलर मेरठी के साथ गाजियाबाद में लूट

राग देश

अभी ये नहीं बताया गया है कि तिग्मांशु धूलिया की ‘राग देश’ सुभाष चंद बोस की रहस्यमय मौत के राज भी खोलेगी या नहीं, लेकिन आईएनए के संघर्ष और आजादी की कहानी को फिल्म में दिखाया गया है। ‘राग देश’ की कहानी साल 1945 में आजाद हिंद फौज पर हुए मशहूर रेड फोर्ट ट्रायल पर आधारित है।

Also Read:  'भारत में आम है महिलाओं का माता-पिता के लिए अपने प्यार की कुर्बानी देना'

इस फिल्‍म में कुणाल कपूर, अमित साध और मोहित मारवाह नजर आने वाले हैं। फिल्म के बारें में मीडिया को जानकारी देते हुए तिग्मांशु धूलिया ने बताया कि ‘राग देश’ में आपको कोई विवाद नहीं मिलेगा, क्योंकि जब ब्रिटिश हुकूमत ने आजाद हिंद फौज के तीन सैनिकों को मौत की सजा दी, उनमें एक हिंदू, एक सिख और एक मुस्लिम था।

Also Read:  'नेवी डे' पर सेना के कार्यक्रम में नहीं पहुंचे रक्षामंत्री पर्रिकर, 'एयरफोर्स डे' में भी रहे थे अनुपस्थित

“उस समय कांग्रेस पार्टी, मुस्लिम लीग, हिंदू महासभा और अकाली दल उनकी सजा के विरोध में साथ खड़े थे। इसलिए, इस फिल्म में कुछ भी कांग्रेस विरोधी नहीं है। यह एक बहुत ही सकारात्मक फिल्म है। यह फिल्म आईएनए, अदालत के मुकदमों और सुभाष चंद्र बोस के बारे में है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here