उत्तर प्रदेश के उन्नाव में दिल दहलाने वाली घटना: खेत में दुपट्टे से बंधी मिलीं तीन नाबालिग दलित लड़कियां, दो की मौत; एक की हालत नाजुक

0

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। उन्नाव जिले के असोहा इलाके के बबुरहा गांव के बाहर बुधवार देर शाम एक खेत में तीन नाबालिग दलित लड़कियां बेहोशी की हालत में मिलीं। अस्पताल ले जाने पर उनमें से दो को मृत घोषित कर दिया गया। जबकी एक की हालत नाजुक बनी हुई हैं, जिसका अस्पताल में इलाज चल रहा है। पुलिस के मुताबिक, मामले की जांच अभी चल रही है। वहीं, दोनों के शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है। इस घटना के बाद से एक बार फिर से योगी सरकार विपक्ष पार्टी के साथ-साथ सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गई हैं।

उन्नाव

पुलिस अधीक्षक आनंद कुलकर्णी ने बताया कि बबुरहा गांव में एक ही परिवार की 15,14 और 16 साल की तीन लड़कियां अपराह्न करीब तीन बजे जानवरों के लिए चारा लेने घर से निकली थीं। देर शाम तक वापस ना आने पर परिजनों ने उनकी तलाश की तो वे तीनों गांव के बाहर खेत में मिली और वे एक दुपट्टे से बंधी हुई थी। उन्होंने बताया कि सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने तीनों लड़कियों को पास के ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने दो को मृत घोषित कर दिया।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अन्य लड़की को गंभीर हालत में उन्नाव जिला अस्पताल लाया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे कानपुर रेफर कर दिया गया। कुलकर्णी ने बताया कि डॉक्टरों के मुताबिक, प्रथम दृष्टया यह मामला जहर खाने का लग रहा है। मौके पर झाग मिलने की भी जानकारी मिली है। प्रत्यक्षदर्शियों के बयान लेकर मामले की जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। लड़कियों के पोस्टमार्टम की रिपोर्ट का इंतजार है। उसी के आधार पर मौत का कारण स्पष्ट किया जा सकेगा।

वहीं, इस मामले को लेकर योगी सरकार विपक्ष पार्टी के साथ-साथ सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गई हैं। यूपी कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा, “टाइम मैगजीन वाले मुख्यमंत्री का प्रदेश। उन्नाव में 3 दलित लड़कियां खेत में दुपट्टे से बंधी मिली हैं। 2 की मौत हो गयी है एक की हालत गंभीर है। हवाबाज मुख्यमंत्री हवाबाजी वाले विज्ञापन से प्रदेश में अपराध कंट्रोल कर रहे हैं!”

पार्टी ने अपने ट्वीट में आगे कहा, “मुख्यमंत्री पीड़ित परिवार को मुख्यमंत्री आवास बुलाकर और मुआवजा, नौकरी और सरकारी सहायता देकर मामले को रफा दफा ना करे। मामले की गंभीरता से जांच हो और बेटियों को न्याय मिले।”

उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने अपने ट्वीट में लिखा, “उन्नाव में तीन बेटियों साथ हुई बर्बरता ने देश को हिलाकर रख दिया है। उप्र में बेटी होना अभिशाप हो गया है। एक के बाद एक जिले में बेटियों के साथ बर्बरता, उन्नाव में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति योगी सरकार के निकम्मेपन का प्रमाण है। मुख्यमंत्री को पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here