दिल्ली: आईआईटी कैंपस में एक ही परिवार के 3 सदस्यों के शव मिलने से सनसनी, खुदकुशी की आशंका

0

देश की राजधानी दिल्ली में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। राजधानी दिल्ली के भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) परिसर में स्थित एक फ्लैट में एक ही परिवार के तीन सदस्यों का शव फंदे से लटका हुआ पाया गया, जिस वजह से सनसनी फैल गई है। शुरुआती जांच में मामला आत्महत्या का लग रहा है जिसका प्रमुख कारण गृह क्लेश नजर आ रहा है।

संस्थान में वरिष्ठ प्रयोगशाला सहायक गुलशन दास, उनकी पत्नी सुनीता और उनकी मां कांता के शव शुक्रवार देर शाम उनके आधिकारिक आवास के अंदर अलग-अलग कमरों में लटकते मिले। पुलिस ने बताया कि घटनास्थल से कोई भी सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है।

पुलिस ने शनिवार (27 जुलाई) को बताया कि आईआईटी के जैव-रासायनिकी विभाग का वरिष्ठ प्रयोगशाला सहायक गुलशन दास शुक्रवार (26 जुलाई) की रात को फांसी के फंदे से लटका मिला। उसकी पत्नी सुनीता और मां कांता भी अन्य दो कमरों में फांसी से लटकती मिलीं। जब पुलिस वहां पहुंची तब घर का दरवाजा खुला था।

फरवरी में ही हुई थी शादी

पुलिस के अनुसार, दास और सुनीता की फरवरी 2019 में शादी हुई थी। दोनों की यह दूसरी शादी थी और उनकी कोई संतान नहीं थी। शादी के दो महीने बाद ही दोनों के बीच अनबन होने लगी थी। यही नहीं सुनीता ने दास के खिलाफ घरेलू हिंसा की शिकायत दर्ज कराई थी। सुनीता ने दास पर मारपीट करने और घर छोड़कर चले जाने के लिए कहने का आरोप लगाया था। उसने दास पर दहेज की मांग करने का भी आरोप लगाया था।

करनाल से अस्पताल पहुंचे गुलशन के रिश्तेदारों ने बताया कि मां और बेटा परिवार में दूसरों के साथ ज्यादा बातचीत नहीं करते थे। पुलिस के अनुसार, अपनी बेटी के पास जाने में असमर्थ सुनीता की मां ने उन्हें फोन कर घरेलू हिंसा की सूचना दी, जिसके बाद पुलिस आईआईटी कैंपस पहुंची। समाचार एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक, डीसीपी (दक्षिण-पश्चिम) देवेंद्र आर्य ने कहा, “महिलाएं दुपट्टे के साथ अलग-अलग बेडरूम में लटक रही थीं। जबकि दुपट्टे के साथ गुलशन गलियारे में लटक रहे थे।

कोई भी सुसाइड नोट बरामद नहीं

पुलिस ने कहा, “किसी भी शव पर कोई बाहरी चोट नहीं मिली और कोई भी सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ। शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।” प्रारंभिक जांच में पता चला है कि दंपति अक्सर लड़ते थे, जिसके बाद पत्नी ने हाल ही में नारायणा पुलिस स्टेशन में पति के खिलाफ घरेलू हिंसा की शिकायत की थी।

मृतकों के एक रिश्तेदार ने आईएएनएस को बताया, “हम शिकायत को आगे नहीं बढ़ाना चाहते थे, क्योंकि हम उनके रिश्ते को बनाने की कोशिश कर रहे थे। अगर हमें पता होता कि ऐसा कुछ हो सकता है तो हम समय पर हस्तक्षेप करते।”

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, “इस बात में संदेह है कि दोनों के बीच लड़ाई इस हद तक पहुंच जाएगी कि वे जीवन को समाप्त कर लेंगे। दोनों के बीच अक्सर क्या बहस होती थी यह जानने के लिए मृतकों के रिश्तेदारों और पड़ोसियों से पूछताछ की जा रही है। इसमें कांता की मौत को भी देखा जा रहा है।”

पुलिस ने बताया चूंकि दंपति की शादी सात साल से अधिक पुरानी नहीं थी, इसलिए मजिस्ट्रेट द्वारा कानून के तहत पूछताछ शुरू की गई है। आर्य ने कहा कि पुलिस को संदेह है कि यह आत्महत्या का मामला है, मगर विस्तृत जानकारी शव परीक्षण के बाद ही पता चल पाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here