आगराः अस्पताल का बिल चुकाने के लिए नहीं थे रुपये, डॉक्टर ने नवजात को मां से छीन कर बेच दिया; अस्पताल सील

0

उत्तर प्रदेश के आगरा जिले से मानवता को शर्मसार करने वाली एक घटना सामने आई है। यहां के एक निजी अस्पताल ने प्रसव पर आया बिल चुकाने में असमर्थ गरीब दंपत्ति से कथित रूप से उसका बच्चा खरीद लिया गया। इस बाबत सूचना मिलने पर अस्पताल पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जांच के लिए अस्पताल के चार कमरों को सील कर दिया है।

आगरा

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अस्पताल में प्रसव के बाद गरीब दंपती 35 हजार रुपये शुल्क जमा नहीं कर सका तो उसके नवजात बच्चे का सौदा कर दिया। आरोप है कि डॉक्टर ने जबरन उससे कागज पर अंगूठा लगवा लिया और बच्चा छीन लिया। उधर महिला गिड़गिड़ाती रह गई, पति भी कुछ न कर सका क्योंकि वो बेबस था। पीड़ित परिजनों का आरोप है कि अस्पताल की फीस न दे पाने पर चिकित्सक ने कहा कि रुपये नहीं हैं तो बच्चा देना पड़ेगा।

बच्चे के पिता शंभूनगर यमुनापार निवासी शिवचरण का आरोप है कि उसकी गर्भवती पत्नी बबीता ने 24 अगस्त को सर्जरी के बाद बच्चे को जन्म दिया। उसका कहना है कि अस्पताल ने उसे प्रसव का 35 हजार रुपये का बिल बताया, जो उसके पास नहीं थे। शिवचरण का कहना है कि उसने बिल चुकाने के लिए दो दिन का वक्त मांगा था, लेकिन जब वह बिल जमा नहीं कर सका तो अस्पताल संचालन ने उसके बच्चे को एक लाख रुपये में खरीद लिया और बिल भुगतान के पैसे काटकर उसे 65 हजार रुपये दे दिए।

आरोप है कि काफी मिन्नतें कीं पर चिकित्सक ने एक न सुनी। नवजात को उसकी मां से नहीं मिलने दिया। कहा कि पैसे नहीं हैं तो बच्चा देना पड़ेगा। महिला का आरोप है कि जबरन कुछ पैसे पकड़ाकर एक कागज पर अंगूठे का निशान ले लिया और अस्पताल से भगा दिया। महिला का यह भी अरोप है कि डॉक्टर ने बच्चे को अपने रिश्तेदार को बेच दिया है। मामले की जानकारी स्वास्थ्य विभाग को दी गई। सोमवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने अस्पताल पर कार्रवाई करते हुए उस पर सील लगा दी।

आगरा सीएमओ ने बताया कि जिलाधिकारी एन प्रभु सिंह के निर्देश के बाद निजी अस्पताल के खिलाफ कार्रवाई की गई है। अस्पताल प्रबंधन को नोटिस जारी कर दिया गया है, साथ ही अस्पताल को सील कर दिया गया है। वहीं, मामला मीडिया में आने के बाद पुलिस घटना की जांच पड़ताल में जुट गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here