मेघालय के राज्यपाल तथागत रॉय बोले- शुक्र है कि अभिजीत बनर्जी को ‘न्याय’ योजना के लिए नोबेल नहीं मिला

0

सोशल मीडिया पर हमेशा अपने बयानों को लेकर विवादों में रहने वाले मेघालय के राज्यपाल और जाने माने आरएसएस प्रचारक तथागत रॉय ने कांग्रेस के लिए ‘न्याय’ योजना की संकल्पना करने को लेकर नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी की आलोचना की है। साथ ही, रॉय ने अपने ट्वीट में कहा कि उन्हें बनर्जी की उपलब्धियों को लेकर गर्व है, जिन्हें वैश्विक गरीबी उन्मूलन के लिए प्रायोगिक पहल को लेकर उनकी पत्नी एस्थर डुफ्लो एवं एक अन्य अर्थशास्त्री के साथ यह पुरस्कार मिला है।

तथागत रॉय
फाइल फोटो: तथागत रॉय

राज्यपाल तथागत रॉय ने यह ट्वीट 14 अक्टूबर को किया था जिस दिन इस पुरस्कार की घोषणा हुई थी। मेघालय के राज्यपाल ने अपने ट्वीट में कहा , ‘मेरा व्यक्तिगत रूप से मानना है कि न्याय एक सनकी और मूर्खतापूर्ण येाजना थी। यहां तक कि इसके जनक भी अब इसका जिक्र नहीं कर रहे हैं। शुक्र है कि बनर्जी और डुफ्लो को न्याय के लिये यह पुरस्कार नहीं मिला। मुझे बताया गया कि यह उन्हें कुछ अच्छे प्रायोगिक कार्य के लिये मिला है, किसी मौलिक चीज के लिये नहीं।’

गौरतलब है कि, ‘न्याय’ (न्यूनतम आय योजना) कांग्रेस की एक न्यूनतम आय गारंटी योजना थी और 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले इसकी संकल्पना की गई थी और इसे लेकर चुनावी वादे किए गए थे। रॉय ने यह भी कहा कि “मैंने पहले कभी अभिजीत बनर्जी के बारे में नहीं सुना था। लेकिन फिर भी, मैं कोई अर्थशास्त्री नहीं…।”

एक कार्यक्रम से अलग तथागत रॉय ने पीटीआई से कहा कि उन्होंने न्याय योजना की आलोचना की क्योंकि इस योजना के वित्तीय स्रोत का जिक्र नहीं किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here