तेलुगु टीवी अभिनेत्री कोंडापल्ली श्रावणी आत्महत्या मामले में युवक ने पुलिस के सामने किया आत्मसमर्पण

0

एक युवक देवराज रेड्डी ने गुरुवार को तेलुगू टेलीविजन स्टार कोंडापल्ली श्रावणी की आत्महत्या मामले में पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया। मामले में आरोपों का सामना कर रहे देवराज एसआर नगर पुलिस स्टेशन में जाकर खुद को आत्मसमर्पित कर दिया। समाचार एजेंसी आईएएनएस की रिपोर्ट के मुताबिक, इंस्पेक्टर वी.नरसिम्हा रेड्डी ने कहा कि, देवराज काकीनाड़ा से हैदराबाद पहुंचे और पुलिस के सामने खुद को पेश किया।

तेलुगू

गौरतलब है कि, 26 वर्षीय श्रावणी मंगलवार रात मधुरानगर में अपने घर पर मृत पाई गईं। पुलिस ने कहा कि परिवार द्वारा देवराज से उनकी दोस्ती पर आपत्ति जताए जाने के बाद उन्होंने फांसी लगा लीं। हालांकि, परिवार के सदस्यों ने आरोप लगाया है कि देवराज द्वारा परेशान किए जाने के चलते उन्होंने यह कदम उठाया। श्रावणी के माता-पिता द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के आधार पर देवराज के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 306 (आत्महत्या के लिए उकसाने) के तहत मामला दर्ज किया गया था।

हालांकि, देवराज द्वारा किसी साईं कृष्णा रेड्डी पर श्रावणी की मौत के लिए जिम्मेदार होने का आरोप लगाए जाने के बाद मामले ने अलग दिशा ले ली। उन्होंने दावा किया कि श्रावणी ने उन्हें यह बताने के लिए फोन किया था कि उनके परिवार के सदस्य और साईं कृष्णा रेड्डी उन्हें प्रताड़ित कर रहे हैं। साईं कृष्णा रेड्डी ने हालांकि इन आरोपों से इनकार किया है। उन्होंने कहा कि वह श्रावणी के पारिवारिक मित्र हैं और उनकी आत्महत्या के लिए जिम्मेदार नहीं हैं।

पुलिस ने कहा कि वे देवराज और श्रावणी के परिवार के सदस्यों के बयान दर्ज करेंगे। पुलिस के अनुसार, देवराज रेड्डी के साथ फिर से रिश्ता रखने के लिए श्रावणी का अपने परिवार से मनमुटाव हुआ था। मंगलवार देर रात इसी मुद्दे को लेकर उनकी अपनी मां और भाई के साथ बहस भी हुई थी, जिसके बाद वह अपने कमरे में चली गईं और फांसी लगा ली।

आंध्र प्रदेश से ताल्लुक रखने वाली श्रावणी आठ साल पहले परिवार के साथ हैदराबाद आई थीं और इसके बाद उन्होंने टीवी सीरियलों में काम करना शुरू किया। कुछ महीनों पहले टिकटॉक के जरिए देवराज के साथ उनकी दोस्ती हुई थी जो धीरे-धीरे प्यार में बदल गई। देवराज रेड्डी को जून में श्रावणी के परिवार के सदस्यों द्वारा दर्ज इस शिकायत के आधार पर गिरफ्तार किया गया था कि वह उनसे शादी रचाने के लिए श्रावणी को परेशान कर रहे थे।

श्रावणी के परिवार ने कहा कि वह उसे पैसे के लिए भी परेशान करता था। उन्होंने कहा कि देवराज ने श्रावणी को सोशल मीडिया पर दोनों की निजी तस्वीरें और वीडियोज पोस्ट करने की धमकी भी दी थी। हालांकि एक लाख रुपये के एवज में वह तस्वीरों को डिलीट करने पर राजी हो गया था। गूगल पे के माध्यम से किश्त में देवराज को ये पैसे दिए गए थे।

हालांकि परिवार का यह भी कहना है कि पैसे लेने के बाद भी वह श्रावणी को परेशान करता रहा और 22 जून को अभिनेत्री ने एसआर नगर पुलिस स्टेशन में देवराज के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। बहरहाल, पुलिस का दावा है कि शिकायत में किसी वीडियो या फोटो का जिक्र नहीं था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here