जब लालू यादव के मंत्री बेटे कैंटीन पहुँच कर बनाने लगे मिठाई

0

लालू यादव और उनके परिवार के बारे में उनके विरोधी भी मानते हैं को उनकी या उनके परिवार वालों की जीवन शैली में सरलता खूब झलकती है।

और इस सरलता को अब उनके हाल ही में बने सुपुत्रों ने एक नया आयाम दिया है।

दिन था 4 अगस्त और स्थान बिहार असेंबली। असेंबली में स्थित कैंटीन में उस समय लोग हैरान रह गए जब लालू के बेटे और बिहार के स्वास्थ्यमंत्री तेजप्रताप यादव ने वहां पहुँच कर खुद मिठाई बनानी शुरू कर दी।

जनसत्ता की एक खबर के अनुसार, दरअसल, उस दिन विधानसभा की कार्यवाही स्थगित हो गई थी। ऐसे में तेजप्रताप विधान सभा की कैंटीन पहुंच गए। तेजप्रताप वहां बन रही खाद्य सामग्री का जायजा लेने गए थे। वे देख रहे थे कि वहां सब ठीक है या नहीं। तेजप्रताप को कैंटीन में गंदगी मिली थी।

tajaswai-yadav-620x400 (1)

तेजप्रताप ने कैंटीन में सफाई का पर्याप्त इंतेज़ाम न होने पर अपनी नाराज़गी भी जताई aur निर्देश दिया की कहना बनाने की जगह का भविष्य में साफ़ होना ज़रूरी है।

इसके साथ ही उन्होंने खाद्य सामग्री की गुणवत्ता को लेकर भी कई तरह के निर्देश दिये। यह दौरा अचानक हुआ जिससे कैंटीन वालों को कोई खास तैयारी करने का मौका भी नहीं मिला।

खुद बनाई गाजा: कैंटीन में तेजप्रताप यादव ने वहां बनने वाली सबसे स्वादिष्ट मिठाई गाजा को खुद बनाया। यह बेसन की मिठाई होती है। बिहार विधानसभा की कार्यवाही का गुरुवार को आखिरी दिन था और तेज प्रताप बस यूं ही घूमते हुए कैंटीन पहुंच गए थे।

तेजप्रताप यादव लालू के बड़े बेटे हैं। पिछले महीने वह एक पत्रकार से उलछने के बाद सुर्खियों में आ गए थे। उस वक्त वहां पार्टी सुप्रीमो और उनके पिता लालू यादव भी मौजूद थे। लालू बोलते रहे, लेकिन तेजप्रताप का गुस्सा कम नहीं हुआ था। अन्य सीनियर नेता भी वहां बैठे हुए थे। उन्होंने धमकी देते हुए कहा कि प्रेस से हो, इसलिए इज्जत कर रहे हैं। मानहानि का केस करेंगे। उन्होंने पत्रकार को कहा कि पहले तस्वीर डिलीट कर दो, नहीं तो केस कर देंगे।

LEAVE A REPLY