बिहार: महागठबंधन टूटने के बाद तेजस्वी यादव ने पहली बार मुख्यमंत्री नीतीश से मांगी मदद

0

राष्ट्रीय जनता दल(राजद) प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बेटे और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव नीतीश कुमार पर निशाना साधने का कोई मौका नहीं छोड़ते और इसी बीच उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मदद मांगी है।

यह मदद उन्होंने किसी और चीज़ के लिए नहीं बल्कि अपने बंगले के लिए मांगी है। बता दें कि, बिहार में नई सरकार बनने के बाद तेजस्वी यादव का बंगला डिप्टी सीएम सुशील मोदी को आवंटित किया गया है। साथ ही तेजस्वी को उनका सरकारी बंगला खाली करवाने का नोटिस भी दिया गया है और माना जा रहा है कि वह बंगला खाली नहीं करना चाहते है। इसलिए उन्होंने नीतीश को शालीन भाषा में पत्र लिखा है।

एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, तेजस्वी यादव को पिछले हफ्ते नोटिस भेजा गया था, तेजस्वी वह बंगला खाली नहीं करना चाहते। क्योंकि वहां से नीतीश के साथ-साथ लालू यादव और मां राबड़ी देवी को मिला बंगला भी सड़क पार ही है। वहीं सुशील कुमार जिस बंगले में फिलहाल रह रहे हैं वह कुछ किलोमीटर दूर है। वही तेजस्वी को दिया जा सकता है, लेकिन तेजस्वी दूर जाना नहीं चाहते।

जिस बंगले में सुशील मोदी रह रहे हैं वह उनको 2005 में दिया गया था जब वह डिप्टी सीएम बने थे। लेकिन जब 2013 में नीतीश ने बीजेपी से 17 साल पुराना गठबंधन तोड़कर आरजेडी और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाई तो भी उन्होंने सुशील का बंगला नहीं बदला और उनको वहीं पर रहने दिया। यही बात तेजस्वी ने नीतीश को याद दिलाई है।

खबर के मुताबिक, पत्र में नीतीश को ‘चाचा’ लिखा गया है। बताया जा रहा है कि नीतीश कुमार, तेजस्वी यादव के अनुरोध को स्वीकार नहीं करेंगे। अगर वह तेजस्वी के अनुरोध को स्वीकारते हैं तो अन्य पूर्व मंत्री भी इसी तरह का दावा करने लगेंगे।

गौरतलब है कि, आरजेडी, जदयू और कांग्रेस के गठबंधन वाली सरकार में तेजस्वी यादव बिहार के डिप्टी सीएम थे और उस समय तेजस्वी को रहने के लिए उनको सर्कुलर रोड पर सरकारी बंगला मिला हुआ था। लेकिन जब नीतीश ने उनकी पार्टी से गठबंधन तोड़कर बीजेपी को अपने साथ करके सरकार बना ली है और सुशील कुमार मोदी को बिहार का डिप्टी सीएम बना दिया है और अब वह बंगला उनको दिया जाना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here