आखिरकार सामने आए ‘गायब’ RJD नेता तेजस्वी यादव, बोले- इलाज करा रहा था

0

लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद से ही बिहार से ‘गायब’ राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के वरिष्ठ नेता तेजस्वी प्रसाद यादव आखिरकार सार्वजनिक तौर पर लौट आए हैं। शनिवार को तेजस्वी यादव ने अपने ट्विटर अकाउंट पर कई ट्वीट कर अपनी मौजूदगी दर्ज कराई और इतने दिनों तक कहां गायब थे, इसकी वजह भी बताई।

तेजस्वी यादव
फाइल फोटो: सोशल मीडिया

आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बेटे तेजस्वी यादव ने शनिवार को एक ट्वीट कर इसकी जानकारी देते हुए कहा कि वे अपना इलाज करा रहे थे। राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के पुत्र और विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी ने शनिवार को ट्वीट कर चमकी बुखार के कारण मारे गए बच्चों के लिए दुख जताते हुए कहा कि इस दुखद घड़ी में राजद के दबाव के कारण ही प्रधानमंत्री को बयान देना पड़ा।

तेजस्वी ने एक अन्य ट्वीट में विरोधियों पर तंज कसते हुए लिखा, “दोस्तों, पिछले कुछ सप्ताह के दौरान मैं इलाज से गुजर रहा था। फिर भी राजनीतिक विरोधियों के साथ-साथ मीडिया के एक समूह द्वारा मुझे लेकर बनाई गई मसालेदार कहानियों को देखकर खुश हूं।”

तेजस्वी ने एक और ट्वीट में कहा, “हम उन लोगों के प्रति जवाबदेह हैं, जो हममें एक समाजवादी, धर्मनिरपेक्ष और सामाजिक न्याय के विकल्प की तलाश में हैं। मैं उन सभी लोगों को विश्वास दिलाता हूं कि हम यहां हैं और हमेशा उनके साथ हैं। हाल के घटनाक्रम ने मुझे एक अलग तरीके से चीजों का अध्ययन, छानबीन, विश्लेषण और मूल्यांकन करने में मदद की है।”

तेजस्वी ने एईएस से बच्चों की हुई मौत पर भी प्रतिक्रिया देते हुए लिखा, ‘एईएस के कारण सैकड़ों गरीब बच्चों की असामयिक हानि पर लगातार मेरी नजर बनी हुई थी। इस दुखद क्षण में पार्टी के कार्यकर्ताओं, नेताओं से प्रभावित परिवारों का दौरा करने के लिए कहा और राजद के सांसदों को संसद में सवाल उठान के लिए कहा, जिसके बाद ही पीएम ने जवाब दिया। मेरे प्रिय बिहार, मैं यहीं हूं।’

तेजस्वी यादव ने एक और ट्वीट में लिखा, जब से राजद का जन्म हुआ है, तब से गरीब लोगों का संघर्ष इसके केंद्र में रहा है और सिर्फ चुनाव में हार की वजह से यह खत्म नहीं हो सकता। बिहार के लोगों के साथ-साथ हमारे उत्साही कैडर को आश्वस्त करना चाहता हूं कि हम गरीबों के रोजमर्रा के जीवन के मुद्दों पर नए सिरे से प्रतिबद्धता के साथ लड़ने जा रहे हैं।

बता दें कि बिहार में चमकी बुखार से लगातार बच्चे मर रहे हैं। ऐसे में मुख्य विपक्षी पार्टी के प्रमुख नेता होने के नाते तेजस्वी यादव के गायब होने का मुद्दे पर सत्तारूढ़ पार्टी ने आरजेडी को खूब घेरा। लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद राजद की 29 मई को हुई समीक्षा बैठक के बाद से ही लापता तेजस्वी को लेकर तरह- तरह की अटकलें लगाई जा रही थीं। फिलहाल ट्विटर पर अपने बारे में जानकारी देकर तेजस्वी ने इन सभी अटकलों पर विराम लगा दिया है।
(इंपुट: आईएएनएस के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here