बिहार: राज्यपाल के फैसले से नाखुश तेजस्वी यादव जाएंगे कोर्ट

0

बिहार विधानसभा में एकमात्र सबसे बड़ी पार्टी राजद से पहले नीतीश कुमार को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किए जाने पर अपना विरोध दर्ज कराने के लिए गुरुवार(27 जुलाई) को तेजस्वी यादव ने बिहार के राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी से मुलाकात की।

PHOTO: PTI

राज्यपाल ने नीतीश कुमार से कहा है कि वह आज 10 बजे शपथ लेने के बाद दो दिन के भीतर विधानसभा में अपना बहुमत साबित करें। नीतीश कुमार ने बुधवार(26 जुलाई) रात मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। इस इस्तीफे के पीछे का कारण राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बेटे तेजस्वी के साथ नीतीश की तनातनी को माना जा रहा है।

तेजस्वी पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं, लेकिन नीतीश के कहने के बावजूद उन्होंने उपमुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने से इनकार कर दिया था। नीतीश कुमार की बुधवार रात राज्यपाल के साथ मुलाकात के बाद तेजस्वी राजद के कुछ विधायकों और नेताओं को लेकर त्रिपाठी से मिलने राजभवन गए।

उन्होंने मुलाकात के बाद पत्रकारों से कहा कि एकमात्र सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते राजद को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया जाना चाहिए। हम कानूनी सलाह ले रहे हैं और राज्यपाल के फैसले के खिलाफ हम अदालत जाएंगे।
उन्होंने कहा कि बिहार की जनता ने महागठबंधन को पांच साल तक सरकार चलाने का जनादेश दिया था। नीतीश कुमार ने इस जनादेश के साथ विश्वासघात किया है।

उन्होंने यह भी कहा कि नीतीश कुमार के खिलाफ राज्य भर में विरोध प्रदर्शन होंगे और उनका बाहर कहीं जाना मुश्किल हो जाएगा। तेजस्वी ने दावा किया कि उनके पास अधिकांश जदयू विधायकों का समर्थन है। उन्होंने कहा कि मुझे यकीन है कि सामाजिक न्याय के प्रति प्रतिबद्ध जदयू के अधिकतर विधायक शक्तिपरीक्षण में सरकार के खिलाफ मतदान करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here