वाराणसी में पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ रहे BSF के बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव बोले- मुकाबला ‘असली’ और ‘नकली चौकीदार’ के बीच

0

दो साल पहले सोशल मीडिया पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के खाने को लेकर शिकायत करने के बाद सैन्य सेवाओं से बर्खास्त किए गए तेज बहादुर यादव अब वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे। वहीं, तेज बहादुर ने अब पीएण मोदी के खिलाफ हुंकार भी भर दी है।

तेज बहादुर
फाइल फोटो

समाचार एजेंसी ANI से बात करते हुए बीएसएफ के बर्खास्त कांस्टेबल तेज बहादुर ने कहा कि, पीएम ने कहा था ‘अर्धसैनिक बलों के जवानों को शहीद का दर्जा देंगे, उन्हें पेंशन देंगे’ अब तक क्यों नहीं दी। तेज बहादुर ने आगे कहा मैं पीएम मोदी के वाराणसी संसदीय क्षेत्र से निर्दलीय उम्मीदवार बनकर चुनाव लडूंगा। चुनाव के दौरान मैं पीएम से पूछूंगा, ‘आपने वादे किए थे, आज तक आपने पूरे क्यों नहीं किये, आपने क्या किया? हमें बताओ। यह एक बराबर की लड़ाई है, एक तरफ आपके पास ‘असली चौकीदार’ है और दूसरी तरफ आपके पास ‘नकली चौकीदार’ है।

बता दें कि बीएसएफ जवान तेज बहादुर उस समय चर्चा में आए थे जब उन्होंने जनवरी 2017 में खाने को लेकर सोशल मीडिया पर वीडियो डाला था। इस पर काफी विवाद हुआ था और पीएमओ ने मामले का संज्ञान लिया था। इसके बाद अप्रैल माह में बीएसएफ ने उनको अनुशासन हीनता का दोषी मानते हुए बर्खास्त कर दिया था। हरियाणा के महेंद्रगढ़ निवासी तेज बहादुर अपनी फैमिली के साथ रेवाड़ी के कालका रोड स्थित शांति विहार कॉलोनी में रहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here