कोरोना लॉकडाउन: तहसीन पूनावाला ने पूर्व पीएम मनमोहन सिंह को किया याद, बोले- वह होते तो गरीब व्यक्ति के पास भोजन और पैसा होता

0

भारत में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार की रात देश को संबोधित करते हुए ऐलान किया था कि ‘आज रात 12 बजे से पूरे देश में संपूर्ण लॉकडाउन होगा, उन्होंने कहा कि ये लॉकडाउन कर्फ्यू की तरह ही होगा।’ पीएम मोदी बार-बार देश की जनता से अपील कर रहे है कि जब तक कोई बहुत जरुरी काम ना हो तब तक वो घर से ना निकले। लॉकडाउन की वजह से देश के कई हिस्सों में बहुत सारे लोग रास्तों में फंस गए है, उनकों बहुत परेशानियों को सामना करना पड़ रहा है। उन बेबस और असहाय लोगों के सामने खाने-पीने और रहने की गंभीर समस्या है।

लॉकडाउन
फाइल फोटो

इस बीच, सोशल एक्टिविस्ट और बिग बॉस 13 के कंटेस्टेंट रहे तहसीन पूनावाला ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और भारत के पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह को याद किया है। साथ ही उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के दौरान मनमोहन सिंह की प्रधानमंत्री के तौर पर कल्पना करें। उन्होंने आगे कहा कि अगर वह वो होते तो 21 दिनों के लॉकडाउन को सभी विपक्षी दलों और सीएम को साथ लेकर लागू करते। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वह नई संसद बनाने के लिए 20 हजार करोड़ रुपये खर्च नहीं करते। तहसीन पूनावाला ने अपने ट्वीट में उम्मीद जताई कि अगर मनमोहन सिंह देश के प्रधानमंत्री होते तो गरीब से गरीब व्यक्ति के पास पैसा और भोजन होता।

तहसीन पूनावाला ने अपने ट्वीट में पूर्व पीएम को याद करते हुए लिखा, “कल्पना कीजिए अगर डॉक्टर मनमोहन सिंह कोविड-19 के दौरान हमारे प्रधानमंत्री होते। पूरी दुनिया उनके नेतृत्व की और देख रही होती। यह 21 दिनों का लॉकडाउन सभी सीएम और विपक्षी दलों के साथ मिलकर किया जाता। वह नई संसद को बनाने के लिए 20 हजार करोड़ रुपये खर्च नहीं करते।”

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, “डॉक्टर मनमोहन सिंह यह सुनिश्चित करते कि गरीब से गरीब व्यक्ति के पास भोजन हो और पैसे हों। हमें यकीन होता कि हमारी अर्थव्यवस्था कोविड-19 के बाद ठीक हो जाएगी, क्योंकि कोरोनावायरस से पहले हमारी अर्थव्यवस्था नोटबंदी और बिना तैयारी वाली जीएसटी के कारण बर्बाद नहीं होती। हम डॉक्टर मनमोहन सिंह को याद करते हैं।”

गौरतलब है कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के लोगों से कोरोना वायरस की गंभीरता को समझने और घरों में रहने की अपील करते हुए मंगलवार को 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि ये लॉकडाउन कर्फ्यू की तरह ही होगा। बता दें कि, देश में अब तक 17 लोगों की कोरोना वायरस संक्रमण से मौत हो हुई है। वहीं, इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 750 के करीब पहुंच गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here