तकनीकी कारणों की वजह से रद्द किया गया चीन के बाग़ी नेता डोल्कन ईसा का वीज़ा

0

चीन के बाग़ी नेता डोल्कन ईसा का वीज़ा भारत ने रद्द कर दिया गया था। तब कहा जा रहा था कि सरकार ने चीन के दबाव में आकर यह कदम उठाया है। लेकिन अब गृह मंत्रालय के अधिकारिक सुत्रों का इस पर कहना है कि वीजा कैंसल करने की पीछे तकनीकी वजह हैं। गृह मंत्रालय को इस मामलों में जो तथ्य मिले हैं, उनमें उनके दस्तावेज ‘अस्पष्ट’ पाये गये हैं और यात्रा के मकसद के बारे में अनिश्चितता झलकती है।

समाचार एजेंसी यूनीवार्ता के अनुसार सरकार ने चीन के असंतुष्ट उइगर समुदाय के नेता डोल्कुन ईसा के वीसा को रद्द करने के बाद चीनी असंतुष्ट नेता रे वाँग और लू जिन्गुआ के वीसा रद्द करने की बात स्वीकार की है और इसके पीछे तकनीकी कारण बताये हैं।

आधिकारिक सूत्रों ने रे वाँग और लू जिन्गुआ के वीसा रद्द किये जाने की रिपोर्टों पर संवाददाताओं के सवालों के जवाब में बताया कि गृह मंत्रालय को इन दोनों मामलों में जो तथ्य मिले हैं, उनमें तकनीकी कारण सामने आयें हैं। सुश्री लू जिन्गुआ के मामले में उनके दस्तावेज ‘अस्पष्ट’ पाये गये हैं और यात्रा के मकसद के बारे में अनिश्चितता झलकती है।

भारत ने हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में होने वाले एक कार्यक्रम के लिए वर्ल्ड उइगर कांग्रेस के नेता डोल्केन ईसा को वीजा दिया गया था, जिसे अब सरकार ने कैंसिल कर दिया है। डोल्कन ईसा वीजा देने को लेकर चीन ने अपनी आपत्ति दर्ज कराई थी। उम्मीद थी कि सम्मेलन में उइगर के साथ ही निर्वासन में रह रहे कई अन्य चीनी असंतुष्ट नेता भी हिस्सा लेंगे और चीन में लोकतांत्रिक परिवर्तन पर चर्चा करेंगे।

LEAVE A REPLY