महिला पत्रकार का गाल थपथपाकर विवादों में घिरे तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने सफाई देते हुए मांगी माफी

0

महिला पत्रकार का गाल थपथपाकर विवादों में घिरे तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने अब चिट्ठी लिखकर अपनी सफाई दी है। साथ ही राज्यपाल ने महिला पत्रकार को एक पत्र लिखकर उस घटना के लिए माफी मांगी है। बता दें कि, महिला पत्रकार के गाल थपथपाते हुए राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित की एक तस्वीर भी सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहीं है।

PHOTO- @lakhinathan

बता दें कि, राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने जिस महिला पत्रकार का गाल थपथपाया था उसका नाम लक्ष्मी सुब्रमण्यम है और वो TheWeek में काम करती है।

घटना के बाद लक्ष्मी सुब्रमण्यम ने ट्वीट करते हुए लिखा था कि, ‘मैंने तमिलनाडु के गवर्नर बनवारीलाल पुरोहित से प्रेस कॉन्फ्रेंस के आखिर में एक सवाल पूछा, उन्होंने बिना मेरी इजाजत के मेरे गाल पर थपथपाया।’

लक्ष्मी ने एक अन्य ट्वीट में लिखा था कि, ‘मेरे चेहरे पर कई बार हाथ लगाया, अभी भी सारी चीजें याद हैं। यह आपके द्वारा प्रशंसा का एक तरीका हो सकता है और एक दादा जी टाइप रवैया हो सकता है। लेकिन मेरा यही कहना है कि आपने गलत किया।’

बता दें कि, महिला पत्रकार के इस ट्वीट के बाद कई लोग भी महिला पत्रकार के समर्थन में आ गए हैं। द्रमुक की राज्यसभा सदस्य कनिमोई ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, ‘अगर संदेह नहीं भी किया जाए, तब भी सार्वजनिक पद पर बैठे एक व्यक्ति को इसकी मर्यादा समझनी चाहिए और एक महिला पत्रकार के निजी अंग को छूकर गरिमा का परिचय नहीं दिया या किसी भी इंसान द्वारा दिखाया जाने वाला सम्मान नहीं दर्शाया।’

वहीं, द्रमुक के कार्यकारी अध्यक्ष एम के स्टालिन ने अपने ट्वीटर हैंडल से कहा कि, ‘यह ना केवल दुर्भाग्यपूर्ण है बल्कि एक संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति का अनुपयुक्त कृत्य है।’

वहीं, अब महिला पत्रकार का गाल थपथपाकर विवादों में घिरे राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने चिट्ठी लिखकर उस घटना के लिए माफी मांगी है। नवारीलाल पुरोहित ने अपनी चिट्ठी में महिला पत्रकार को संबोधित करते हुए लिखा कि तुम मेरी पोती के समान हो।

राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने अपने पत्र में लिखा कि जब तुमने मुझसे सवाल पूछा था, तब हम प्रेस कॉन्फ्रेंस खत्म कर रहे थे। चूंकि मुझे तुम्हारे द्वारा पूछा गया सवाल अच्छा लगा, इसलिए मैंने तुम्हारा एक पत्रकार होने के नाते उत्साह बढ़ाने के उद्देश्य से तुम्हारा गाल सहलाया था। राज्यपाल ने महिला पत्रकार को संबोधित करते हुए लिखा कि तुम मेरी पोती के समान हो। राज्यपाल ने कहा कि मैं भी इस पेशे (पत्रकारिता) से 40 सालों तक जुड़ा रहा हूं।

उन्होंने आगे लिखा कि जब मुझे तुम्हारा ईमेल मिला, उससे मुझे पता चला कि तुम उस घटना से दुखी हुई हो, इसलिए मैं उस घटना पर माफी मांगता हूं, जिससे तुम्हारी भावनाएं आहत हुई। मुझे उम्मीद है कि तुम ईमेल के जरिए इसका जवाब दोगी।

images- @imanojprabakar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here