खट्टर सरकार ने ‘घूंघट’ को बताया ‘हरियाणा की शान’, लोगों ने की आलोचना

0

हमारे यहां बहुत सी भारतीय औरतें रीति रिवाजाों कारण परदा प्रथा का पालन करती आईं हैं। विशेष तौर पर हरियाणा में तो हिंदू और मुसलमान औरतें घूंघट करती हैं। हालांकि, वर्तमान परिस्थिति में राजधानी दिल्ली से करीब दो घंटे दूर हरियाणा की औरतों का मानना है कि घूंघट से आत्मविश्वास कम होता रहा है।

फोटो: ट्विटर

इस बीच हरियाणा सरकार की पत्रिका ‘हरियाणा संवाद’ में एक महिला की घूंघट की तस्वीर को ‘हरियाणा की शान’ बताने को लेकर नया विवाद शुरू हो गया है। नवभारत टाइम्स के मुताबिक, खट्टर सरकार के इस मैगजीन के मार्च महीने के अंक में अंतिम पेज पर प्रकाशित घूंघट में महिला की तस्वीर को ‘हरियाणा की शान और पहचान’ बताया गया है।

सिर पर कुछ सामान लिए और घूंघट ओढ़े इस तस्वीर के साथ लिखा गया है, ‘घूंघट की आन-बान, म्हारे हरियाणा की पहचान।’ सोशल मीडिया पर यह तस्वीर वायरल होने के बाद खट्टर सरकार की काफी आलोचना हो रही है। इस मामले को लेकर कुछ सामाजिक संगठनों ने बीजेपी सरकार से स्पष्टीकरण की मांग की है।

इस मामले पर NBT से जींद के गांव बीबीपुर के पूर्व सरपंच और जागरूक समाजसेवी सुनील जागलान ने कहा कि, ‘दरअसल सरकार एक तरफ तो बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का नारा दे रही है, दूसरी ओर घूंघट को बढ़ावा देने वाली बातें की जा रही हैं। कहां तो हम पर्दा प्रथा खत्म करने के लिए दिन-रात प्रयासरत हैं, और कहां सरकार घूंघट को बढ़ावा दे रही है।’

सोशल मीडिया पर यह तस्वीर शेयर करते हुए लोग मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की कड़ी आचोलना कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि इस प्रकार की तस्वीर छापकर बीजेपी सरकार ने साफ कर दिया कि महिलाओं के प्रति उनका नजरियां कैसा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here