‘बीयर बार’ का उद्घाटन करने वाली स्वाति सिंह एक बार फिर विवादों में फंसी, भंडारे में बांटे 100-100 के नोट

0

बीयर बार का उद्घाटन कर सुर्खियों में आने वालीं योगी सरकार की कैबिनेट मंत्री स्वाति सिंह एक बार फिर विवादों में फंस गई हैं। स्वाति सिंह ने मंगलवार(6 जून) को अपने कार्यालय पर भंडारे के दौरान प्रसाद(पूड़ी-सब्जी) के साथ-साथ लोगों को 100-100 की नोट भी बांटती नजर आ रही हैं। जिसका फोटो वायरल हो गया है। बता दें कि स्वाति सिंह उत्तर प्रदेश सरकार में महिला एवं बाल कल्याण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हैं। दरअसल, ज्येष्ठ मास का आज आखिरी मंगलवार है और इसे लेकर जगह-जगह भंडारों का आयोजन हो रहा है। इस बीच मंगलवार को लखनऊ के गोमतीनगर में स्वाति सिंह ने भी एक भंडारे का आयोजन किया। लेकिन स्वाति सिंह के इस भंडारे में खास बात यह रही कि यहां लोगों को प्रसाद के साथ-साथ 100-100 रुपये के नोट भी बांटे गए। इतना ही नहीं स्वाति सिंह ने खुद अपने हाथों से लोगों को ये नोट बांटे।

भंडारे में सौ-सौ के नोट बांटने की बात सुनकर आसपास के लोग भी इकट्ठा हो गए। भीड़ इतना ज्यादा हो गया है कि लोगों को लाइन में लगवाकर प्रसाद बांटा गया। भंडारे के साथ 100-100 रुपये का नोट बांटती स्वाति सिंह की यह तस्वीर सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रही है।

बता दें कि इससे पहले पिछले महीने 20 मई को एक बीयर शॉप के उद्घाटन को लेकर लखनऊ के सरोजनी नगर से बीजेपी विधायक स्वाति सिंह की काफी किरकिरी हो चुकी है। ये बीयर बार लखनऊ के गोमतीनगर जैसे पॉश इलाके में चल रहा है। स्वाति सिंह की यह तस्वीरे सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। बीयर बार के उद्घाटन को लेकर लोगों सवाल उठाया था कि एक तरफ योगी सरकार शराब को रोकने की बात कह रही है। वहीं, दूसरी तरफ उन्हीं के सरकार की महिला मंत्री शराब (बीयर) को बढ़ावा दे रहीं। स्वाति सिंह ने इस बीयर बार का उद्घाटन 20 मई को किया था। हालांकि, ‘जनता का रिपोर्टर’ को इसकी तस्वीरें सोमवार(29 मई) से हासिल हुईं थी।

इसके अलावा यूपी चुनाव से कुछ ही महीने पहले भी स्वाति सिंह उस वक्त चर्चा में आईं थी, जब उनके पति दयाशंकर सिंह ने मायावती को अपशब्द कहा था। दयाशंकर सिंह के इस आत्तिजनकर टिप्पणी के बाद दयाशंकर सिंह को बीजेपी से हटा दिया गया था, हालांकि बाद में पार्टी ने उन्हें फिर वापस ले लिया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here