घायल उन्नाव गैंगरेप पीड़िता से मिलीं DCW अध्यक्ष स्वाति मालीवाल, बोलीं- लड़की और वकील की हालत नाजुक, बचने के आसार कम

0

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने सड़क हादसे में घायल उन्नाव गैंगरेप पीड़िता से लखनऊ स्थित ट्रामा सेंटर में मुलाकात की। उन्नाव से भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली यह लड़की रविवार को रायबरेली के गुरबख्श गंज क्षेत्र में एक ट्रक और कार के बीच टक्कर में घायल हो गई थी। इस घटना में उसकी मौसी और चाची की मृत्यु हो गई थी जबकि वह और वकील महेंद्र सिंह घायल हो गए थे।

स्वाति मालीवाल
फोटो: @SwatiJaiHind

स्वाति मालीवाल ने कहा कि उन्होंने लड़की से मुलाकात की है और उसने और उसके परिजन ने उसकी हत्या की साजिश के तहत वह हादसा कराए जाने का इल्जाम लगाया है। उन्होंने कहा कि वह उस लड़की को न्याय दिलाने की लड़ाई लड़ेंगी। दिल्ली महिला आयोग दोनों मरीजों को एयरलिफ्ट करवाना चाहती हैं। दोनों मरीजों के परिजन से बात की जा रही है। साथ ही अन्य प्रक्रिया भी पूरी की जा रही है। इलाज का पूरा खर्च दिल्ली राज्य महिला आयोग उठाएगा।

स्वाति ने यह भी कहा कि उच्चतम न्यायालय को बलात्कार कांड का संज्ञान लेते हुए 15 दिन के अंदर सेंगर को सजा सुनानी चाहिये। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा के शासन में पूरे उत्तर प्रदेश में गुंडाराज चल रहा है।

इस मुलाकात के बाद स्वाति मालीवाल ने ट्वीट कर कहा कि, “मैं उन्नाव पीड़िता वक़ील और डॉक्टर से मिली। डॉक्टर ने बताया लड़की और वकील बहुत नाज़ुक हैं और बचने के आसार कम हैं। वो मानते हैं उनको तुरंत एयर लिफ़्ट कर दिल्ली के बेस्ट अस्पताल में ले जाना चाहिए। परिवार भी यही चाहता है। अस्पताल से मैं बात कर रही हूँ। ये ज़िम्मेदारी हम उठाएँगे।”

वहीं एक अन्य ट्वीट में उन्होने कहा, “योगी आदित्यनाथ सरकार से अभी तक परिवार से मिलने कोई न आया। DGP कह रहा है की दुर्घटना थी। योगी आदित्यनाथ जी अस्पताल आओ। कुलदीप सेंगर की विधायकी छीनो। उच्चतम न्यायालय को केस दिल्ली ट्रान्स्फ़र कर 15 दिन में सेंगर को फाँसी दिलानी चाहिए। आज वो बच गया तो देश भर की निर्भया हताश हो जाएँगी।”

इस बीच, लड़की की मां आशा सिंह का कहना है कि यह दुर्घटना नहीं बल्कि हत्या कराने की साजिश है। उन्होंने बलात्कार कांड में भाजपा विधायक सेंगर के साथ सह अभियुक्त शशि सिंह के बेटे और गांव के एक अन्य युवक पर पूर्व में धमकाने का आरोप लगाते हुए कहा कि वे दोनों अक्सर जान से मारने की धमकी देते थे।

गौरतलब है कि भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली लड़की, उसकी चाची पुष्पा और मौसी शीला अपने वकील महेंद्र के साथ रायबरेली जेल में बंद अपने रिश्तेदार महेश सिंह से रविवार को मुलाकात करने जा रही थी। रास्ते में रायबरेली के गुरबख्श गंज क्षेत्र में उनकी कार एक ट्रक से टकरा गई थी। इस हादसे में शीला (50) ने स्थानीय अस्पताल में दम तोड़ दिया था। वहीं, हादसे में घायल कार सवार पुष्पा (45) को लखनऊ स्थित ट्रामा सेंटर में चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया था।

सूत्रों ने बताया कि इस घटना में घायल वकील महेंद्र सिंह की हालत बेहद नाजुक है और वह ट्रामा सेंटर में वेंटिलेटर पर हैं। वहीं, विधायक सेंगर पर आरोप लगाने वाली लड़की भी घायल हुई है, जिसकी हालत बेहद नाजुक बताई जा रही है।

उन्नाव के पुलिस अधीक्षक एम पी वर्मा ने कहा है कि लड़की को पुलिस सुरक्षा प्राप्त थी और हादसे के वक्त सुरक्षाकर्मी साथ क्यों नहीं थे, इसकी जांच के आदेश दिये गये हैं। वर्मा ने सोमवार को कहा कि पीड़िता के साथ एक गनर और दो महिला सुरक्षाकर्मी हर समय तैनात रहते थे। वे पीड़िता के साथ रायबरेली क्यों नहीं गए थे, इसकी जांच कराकर आगे की कार्रवाई की जाएगी। (इंपुट: भाषा के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here