सुब्रमण्यम स्वामी का अरुण जेटली पर हमला, कहा जानबूझकर कालाधन वापस लाना नही चाहते

0

भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने वित्‍त मंत्री अरुण जेटली पर आरोप लगाते हुए कहा है कि वे काला धन वापस भारत नहीं लाना चाहते।

जनसत्ता के अनुसार स्वामी ने मुंबई में एक कार्यक्रम में कहा कि वित्त मंत्री अरुण जेटली चूंकि खुद वकील है तो वह उन लोगों के अधिकारों के बारे में जानते हैं जिन्होंने काला धन विदेशों में जमा किया हुआ है। इसलिए उन्होंने इस तरीके का इस्तेमाल नहीं किया।

Also Read:  आरुषि मर्डर केस: डासना जेल से रिहा हुए राजेश और नूपुर तलवार
Subramanian Swamy
Subramanian Swamy

स्वामी ने कहा, ”यदि मुझे सरकार में जगह मिलेगी तो यह काम एक हफ्ते में कर दूंगा। यदि मैं सरकार में आया तो मैं आयकर तीन साल में समाप्त कर दूंगा। आज लोगों को अधिक बचत के लिए आयकर को पूरी तरह समाप्त करके ही प्रोत्साहित किया जा सकता है।”

स्वामी ने आगे कहा कि कालेधन को लाने के लिए कर पनाहगाहों में जमा कोष का राष्ट्रीयकरण कर दिया जाना चाहिए। स्वामी ने कहा कि राष्ट्रीय बचत दर घटकर 33 प्रतिशत पर आ गई है जिसे बढ़ाकर कम से कम 40 प्रतिशत करने की जरूरत है।

Also Read:  UNGA में सुषमा के भाषण की अरविंद केजरीवाल ने की तारीफ, तो विश्वास बोले 'भारतीय सिंहनी'

उन्होंने कहा कि गरीबी और बेरोजगारी समाप्त करने के लिए देश को कम से कम एक दशक तक 10 प्रतिशत की वृद्धि दर हासिल करने की जरूरत है।

भाजपा नेता ने दावा किया कि 1,20,000 अरब रुपये या कर संग्रहण का 60 गुना कर पनाहगाहों में जमा है जिसे वापस लाने की जरूरत है। प्रधानमंत्री मोदी के साथ अपनी बातचीत का उल्लेख करते हुए स्वामी ने कहा कि प्रधानमंत्री काला धन वापस लाने के लिए संयुक्त राष्ट्र में मंजूर तरीका यानी ऐसे कोष का राष्ट्रीयकरण किए जाने के तरीके को प्राथमिकता दिए जाने के

Also Read:  चीनी धमकी को भारत ने दिखाया ठेंगा, डोकलाम में लंबे समय तक बने रहने की तैयारी में भारतीय सेना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here