असम में संदिग्ध उल्फा उग्रवादियों का हमला, बंगाली मूल के 5 लोगों की गोली मारकर हत्या

0

असम के तिनसुकिया जिले में गुरुवार (1 नवंबर) को संदिग्ध उल्फा (इंडिपेंडेंट) के उग्रवादियों ने बंगाली मूल के पांच लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी। इस हमले में दो अन्य घायल हो गए। विद्रोहियों ने सार्वजनिक स्थल पर गोलीबारी कर दी जिससे पांच लोगों की मौत हो गई। रिपोर्ट्स के मुताबिक इस हमले को उग्रवादी संगठन उल्फा (इंडिपेंडेंट) ने अंजाम दिया है। पुलिस का मानना है कि हमलावर विद्रोही उल्फा के वार्ता विरोधी गुट के सदस्य थे।

फाइल फोटो।

पुलिस को शक है कि इस वारदात को उल्फा आतंकियों ने अंजाम दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो उग्रवादियों ने छह युवाओं को उठा लिया था। इसके बाद उग्रवादी इन युवाओं को ब्रह्मपुत्र नदी के किनारे ले गए और उन्हें गोली मार दी। इनमें से चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई और एक की अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई। जबकि एक घायल शख्स को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

असम पुलिस के एडीजीपी मुकेश अग्रवाल ने कहा है कि हमले के पीछे उल्फा (आई) के उग्रवादियों का हाथ है। पुलिस ने बताया कि मारे गए पांच लोगों में से तीन एक ही परिवार के सदस्य थे। उन्होंने बताया कि अत्याधुनिक हथियारों से लैस हमलावरों का एक समूह ढोला-सादिया पुल के करीब इस गांव में आया और उन्होंने रात करीब आठ बजे पांच से छह लोगों को उनके घर से बाहर बुलाया।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि उन्होंने उन लोगों पर अंधाधुंध गोलियां चलाईं और फिर रात के अंधेरे में फरार हो गए। पुलिस को संदेह है कि बंदूकधारी उल्फा (इंडिपेंडेंट) उग्रवादी संगठन से जुड़े थे। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने घटना पर दुख जताते हुए कहा कि इस घृणित अपराध के दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। सिंह ने मुख्यमंत्री सोनोवाल से बात करके हालात का जायजा लिया।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस हमले की और इसमें श्यामलाल बिस्वास, अनंत बिस्वास, अभिनाश बिस्वास, सुबोध दास की हत्या की निंदा की है। हमले में मारे गए पांचवे शख्स का नाम धनंजय नामशूद्र है। उन्होंने सवाल किया है कि क्या यह एनआरसी की वजह से हुआ है।

वहीं, असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने “मासूम लोगों की हत्या” की निंदा की और शोकसंतप्त परिवारों के प्रति संवेदनाएं प्रकट कीं। उन्होंने कहा, “इस कायरतापूर्ण हिंसा के अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। हम इस तरह की कायराना हरकत को बर्दाश्त नहीं करेंगे।”    

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here