पासपोर्ट विवाद: एक बार फिर ट्रोल हुईं सुषमा स्वराज, ट्विटर पर कराए गए पोल में 42 फीसदी लोगों ने विदेश मंत्री के खिलाफ किए गए अपमानजनक ट्वीट का किया समर्थन

0

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ऐसी मंत्री हैं जो सोशल मीडिया पर सबसे ज्यादा सक्रिय रहती हैं। कई बार उन्होंने ट्विटर के जरिए देश विदेश में फंसे लोगों की दिक्कतें दूर की हैं। सोशल मीडिया पर उनकी जबरदस्त फैन फॉलोइंग है। लेकिन, पिछले दिनों लखनऊ हिंदू-मुस्लिम कपल पासपोर्ट विवाद के बाद सुषमा को पासपोर्ट जारी करने को लेकर विवाद के सिलसिले में ट्रोल किया गया था। साथ ही उनकी की ट्विटर और फेसबुक रेटिंग में भारी गिरावट दर्ज की गई थी।

Express Photo by Prem Nath Pandey

मुसलमान युवक से शादी करने वाली हिंदू महिला तन्वी सेठ की पासपोर्ट बनवाने में मदद करने के बाद से ही सोशल मीडिया पर सुषमा स्वराज बीजेपी समर्थकों और हिंदूवादियों के निशाने पर आ गई हैं। हिंदूवादी समर्थक इस मामले पर विरोध दर्ज करने के लिए सुषमा के आधिकारिक फेसबुक और ट्विटर पेज की रेटिंग घटाना शुरू कर दिया है। साथ ही उन्हें सोशल मीडिया पर ट्रोल किया जा रहा है। हिंदूवादी समर्थक सुषमा स्वराज के खिलाफ कमेंट भी कर रहे हैं।

सुषमा स्वराज को ट्रोल करने का सिलसिला अभी भी थम नहीं रहा है। शनिवार को एक यूजर ने सुषमा के पति स्वराज कौशल को ट्वीट कर बीजेपी और विदेश मंत्री पर मुस्लिमों के तुष्टिकरण का आरोप लगाते हुए कौशल से कहा कि शाम को जब सुषमा घर आएं तो उनकी पिटाई कर उन्हें समझाएं। स्वराज कौशल ने एक ट्वीट का स्क्रीनशॉट पोस्ट किया जिसमें लिखा था, ‘आज रात जब वह (सुषमा स्वराज) घर आएं तो आप उन्‍हें पीटें और समझाएं कि मुस्लिम तुष्‍टीकरण न करें। उन्‍हें बताएं कि मुसलमान बीजेपी को कभी वोट नहीं देगा।’

https://twitter.com/governorswaraj/status/1012949727774535680?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1012949727774535680&ref_url=https%3A%2F%2Fhindi.firstpost.com%2Fsocial-viral%2Fsushma-swaraj-trolled-on-twitter-again-user-tweets-to-husband-swaraj-kaushal-pr-124654.html

स्वराज कौशल ने व्यक्ति द्वारा किए गए इस ट्वीट का स्क्रीनशॉट साझा किया। जिस व्यक्ति ने यह ट्वीट कर यह सलाह दी थी, उसके कई अन्य ट्वीट भी स्वराज कौशल ने रीट्वीट किए। विदेश मंत्री ने भी स्वराज के इस ट्वीट को लाइक किया है।विदेश मंत्री को ट्रोल कर रहे लोगों के खिलाफ कार्रवाई के बारे में पूछे जाने पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि मंत्रालय ने दुर्भावनापूर्ण ट्वीट का उचित जवाब दिया और विदेश मंत्री ने अपने तरीके से ट्रोल कर रहे लोगों को जवाब दिया है।

विदेश मंत्री ने शुरू किया पोल

इस बीच लगातार ट्विटर पर ट्रोल होने के बाद सुषमा स्वराज ने एक पोल शुरू किया है। इस पोल में उन्होंने पूछा है कि मैंने कुछ ट्वीटों को लाइक किया है। यह पिछले कुछ दिनों से हो रहा है। क्या आप ऐसी ट्वीटों को जायज ठहराते हैं।शनिवार देर रात किए गए विदेश मंत्री के इस ट्विटर पोल में लिखा है, ‘दोस्तों: मैंने कुछ ट्वीट्स को लाइक किया है। यह पिछले कुछ दिनों से हो रहा है। क्या आप ऐसे ट्वीटों को जायज ठहराते हैं?

ट्विटर पोल के रिजल्ट में करीब 10 घंटे के अंदर इस पोल पर 60 हजार से ज्यादा वोट किए गए हैं। हैरान करने वाली बात यह है कि इनमें से 42 प्रतिशत लोगों ने ट्रोल करने वालों का समर्थन किया है। जी हां, 58 फीसदी लोगों ने No पर क्लिक किया है, जबकि 42 फीसदी लोगों ने Yes कहा है।

क्या है पूरा विवाद?

आपको बता दें कि तन्वी सेठ और उनके पति अनस सिद्दीकी पिछले दिनों लखनऊ में पासपोर्ट बनवाने गए थे। इस दौरान तन्वी सेठ ने आरोप लगाया था कि लखनऊ पासपोर्ट कार्यालय में तैनात अधिकारी विकास मिश्रा ने उनके साथ धर्म के आधार पर भेदभाव और अपमानित किया। इस दंपति ने दावा किया कि मिश्रा ने महिला के पति से कहा कि वह हिन्दू धर्म अपना ले। अधिकारी पर यह भी आरोप लगाया कि उसने महिला को एक मुस्लिम से विवाह करने को लेकर आड़े हाथ लिया।

विवाद के बाद मिश्रा का ट्रांसफर कर दिया गया और अगले ही दिन तन्वी और उसके मुस्लिम पति का पासपोर्ट जारी कर दिया गया था। बाद में हुई तहकीकात में पाया गया कि दोनों के पासपोर्ट जारी होने में तकनीकी खामियां थीं। विकास मिश्र की आपत्तियां सही थीं और महिला ने इसे बेवजह अंतर धार्मिक विवाह से जोड़कर प्रस्तुत किया। पुलिस एवं एलआईयू (स्थानीय खुफिया इकाई) की रिपोर्ट में पाया गया कि महिला ने जो पता दिया था, वह उस जगह पिछले एक साल से नहीं रह रही थी।

सोशल मीडिया के एक वर्ग ने मिश्रा के खिलाफ कार्रवाई के लिए सुषमा एवं मंत्रालय पर हमला बोला और कहा कि वह तो महज अपनी ड्यूटी कर रहा था। इस बारे में जो भी ट्वीट किये गये, उनमें से कई को सुषमा ने फिर से ट्वीट किया।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here