केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने आंध्र प्रदेश का राज्यपाल बनने की दी बधाई तो सुषमा स्वराज ने खबरों को किया खारिज, डिलीट किया ट्वीट

0

केंद्रीय मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन के ट्वीट से सोमवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की वरिष्ठ नेता और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के आंध्र प्रदेश के राज्यपाल के तौर पर नियुक्त किए जाने की अटकलें शुरू हो गई थीं, जो बाद में गलत साबित हुईं। सुषमा स्वराज ने इस तरह की खबरों को ट्वीट कर खारिज कर दिया। हर्षवर्धन ने ट्वीट कर सुषमा स्वराज को आंध्र प्रदेश का राज्यपाल बनाए जाने पर बधाई दी थी, जिसे बाद में हटा लिया।

Express Photo by Prem Nath Pandey

दरअसल, केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने सोमवार को एक ट्वीट कर सबको चौंका दिया। उन्होंने सुषमा स्वराज को आंध्र प्रदेश का राज्यपाल बनने की बधाई दे डाली, हालांकि कुछ देर बाद ही सुषमा स्वराज ने ट्विटर पर इस खबर का खंडन कर दिया। जिसके बाद हर्षवर्धन ने अपने ट्वीट को एक घंटे के भीतर हटा लिया।

केंद्रीय मंत्री ने अपने ट्वीट में लिखा था, “भाजपा की वरिष्ठ नेता और मेरी दीदी, पूर्व विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज जी को आंध्र प्रदेश का राज्यपाल बनने पर बहुत बधाई व शुभकामनाएं। सभी क्षेत्रों में आपके लंबे अनुभव से प्रदेश की जनता लाभान्वित होगी।”

इसके जवाब में सुषमा स्वराज ने ट्वीट किया, ‘आंध्र प्रदेश के राज्यपाल के तौर पर मेरी नियुक्ति की खबरें सच नहीं हैं।’ गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने भी इन खबरों को खारिज कर दिया।

सुषमा स्वराज ने ट्विटर पर इस खबर का खंडन करते हुए एक अन्य ट्वीट में लिखा, “मैंने भारत के उप-राष्ट्रपति वैंकेया नायडू जी को विदेश मंत्रालय का दफ्तर खाली करने को लेकर फोन किया था। शायद ट्विटर के लिए अटकल लगाने के लिए इतना ही काफी था…आंध्र प्रदेश का राज्यपाल बनाए जाने की खबर सही नहीं है।”

बता दें कि इस बार के आम चुनाव में सुषमा स्वराज ने लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा था। वहीं, मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में सुषमा को कोई पद नहीं दिया गया। हालांकि मोदी सरकार के पहले पांच सालों के दौरान सुषमा विदेश मंत्री के पद पर अपनी सेवाएं दे चुकी हैं। इस बार के आम चुनाव के लिए सुषमा का कहना था कि खराब सेहत उन्हें चुनाव प्रचार और चुनाव लड़ने की अनुमति नहीं देता है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here