“हर साल सावन-भादो में रहती है मंदी”, अपने इस बयान पर जमकर ट्रोल हो रहें है बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी

0

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता और बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी अपने आर्थिक मंदी वाले बयान को लेकर सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल हो रहे हैं। लोग कह रहें है कि, ‘अगस्त में बच्चे मरते है, सावन भादो में आर्थिक मंदी रहती है। ऐसा संयोग आप के सरकार रहते ही क्यों होता है।’

सुशील मोदी
फाइल फोटो: सुशील मोदी

रविवार शाम को पोस्ट अपने ट्वीट में सुशील मोदी ने लिखा, “केंद्र सरकार ने अर्थव्यवस्था में तेजी लाने के लिए 32 सूत्री राहत पैकेज की घोषणा और 10 छोटे बैंकों के विलय की पहल से लेंडिंग कैपिसिटी बढ़ाने जैसे जो चौतरफा उपाय किये हैं, उनका असर अगली तिमाही में महसूस किया जाएगा। वैसे तो हर साल सावन-भादो में मंदी रहती है, लेकिन इस बार कुछ राजनीतिक दल इस मंदी का ज्यादा शोर मचा कर चुनावी पराजय की खीझ उतार रहे हैं।”

बिहार में मंदी को बेअसर बताते हुए सुशील मोदी ने लिखा, “बिहार में मंदी का खास असर नहीं है इसलिए वाहनों की बिक्री नहीं घटी है। केंद्र सरकार जल्‍द ही तीसरा पैकेज घोषित करने वाली है।”

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, “बिहार पहला राज्य है, जिसने एक देश-एक कर की कल्पना साकार करने वाले पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली की प्रतिमा लगाने और उनकी जयंती पर हर साल राजकीय समारोह आयोजित करने का फैसला किया। बिहार को 15 साल के कुशासन से मुक्ति दिलाने वाले भाजपा-जदयू गठबंधन की सरकार का बनना और इसका टिकाऊ होना राज्य के लिए अरुण जेटली का ऐसा राजनीतिक योगदान है, जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता। 2020 के विधानसभा चुनाव में एनडीए के सभी दल संसदीय चुनाव की सफलता दोहरा कर अरुण जेटली को अपनी श्रद्धांजलि देंगे।”

अपने इस ट्वीट को लेकर बिहार के उप मुख्‍यमंत्री और वित्‍त मंत्री सुशील मोदी सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए और लोगों ने उन्हें ट्रोल करना शुरु कर दिया।

सुशील मोदी के इस बयान पर राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने चुटकी लेते हुए सोमवार को ट्विटर पर लिखा, “पितृपक्ष का महीना आने वाला है अब अफ़वाह मियाँ सुशील मोदी अपराधियों के आगे हाथ जोड़ कहेगा कि, “हे माई-बाप सावन-भादो जा रहा है अब तो अपनी AK-47 की नोक से गरमागर्म नॉनवेज चाऊमीन खाना शुरू कर दो ताकि बाज़ार में बहार आ जाए क्योंकि हमारी बिरादर के ब्रादर ने सबका बेड़ा गर्क कर दिया है।”

एक यूजर ने लिखा, “नाच ना आवे आंगन टेढ़ा मंत्री जी आपकी तो मंदी नही हुई होगी अपनी जब मंत्री जी भरता भाड़ मे जाए जनता।” एक अन्य यूजर ने लिखा, “अगस्त में बच्चे मरते है, सावन भादो में आर्थिक मंदी रहती है। ऐसा संयोग आप के सरकार रहते ही क्यों होता है।” एक अन्य यूजर ने सुशील मोदी पर तंज कसते हुए लिखा, “आप तो विश्व के महान अर्थशास्त्री निकले”

एक अन्य यूजर ने लिखा, “भाजपाई कहते है कि अगस्त में तो बच्चे मरते ही है, भाजपा नेताओं के निधन को विपक्ष द्वारा जादू टोना करवाना कहते है। भाजपा के नेता व बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी जी बता रहे हैं कि सावन भादों में मंदी रहती ही है। इन्हें तो नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया जाना चाहिए।” इसी तरह तमाम यूजर्स उनके इस बयान पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहें है।

देखिए कुछ ऐसे ही ट्वीट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here