सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान पाक में फंसा जवान लौटा अपने घर

0

पूरी दुनिया में भारत के सीमा पार किए गए सर्जिकल स्ट्राइक की चर्चा हुई थी। जम्मू- कश्मीर के उरी बेस कैंप में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए 19 जवानों की मौत का बदला भारतीय सेना ने इसका बदली लिया था। भारतीय सेना ने एलओसी के भीतर घुसकर 7 आतंकी ठिकानों को नेस्तोनाबूद कर 38 आतंकियों को मार गिराया। लेकिन इसी बीच भारतीय सेना का जवान चंदूलाल बाबूलाल चव्हाण पाक में फंस गया था। लेकिन अब वो अपने घर लौट आया है।

सर्जिकल

भारतीय सेना के जवान चंदूलाल बाबूलाल चव्हाण होली से एक दिन पहले शनिवार को यहां अपने परिवार में लौट आए।रक्षा राज्यमंत्री सुरेश भामरे चव्हाण (22) के गांव बोरविहिर तक उनके साथ गए। चव्हाण का गांव भामरे के संसदीय क्षेत्र में पड़ता है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, भामरे ने शनिवार को सैनिक के गांव में कहा, “मुझे बहुत खुशी है कि वह अपने परिवार में लौट आए हैं।” चव्हाण के भाई और 9वें मराठा रेजीमेंट के सैनिक भूषण, परिवार के सदस्यों, मित्रों और ग्रामीणों ने धुले जिले में पहुंचने के साथ ही चव्हाण का जोरदार स्वागत किया और उसके बाद अपराह्न् में उनके गांव में उनका स्वागत किया गया। प्रफुल्लित भूषण ने गांव में मीडियाकर्मियों से कहा, “अब हम आनंद के साथ होली मनाएंगे।”

37 राष्ट्रीय राइफल्स में कार्यरत चव्हाण नियंत्रण रेखा के पार आतंकियों के शिविरों पर भारतीय सेना द्वारा की गई सर्जिकल कार्रवाई के बाद 29 सितंबर, 2016 को लापता हो गए थे। बाद में पाकिस्तानी सेना ने उन्हें हिरासत में ले लिया था और लंबी बातचीत के बाद 21 जनवरी को उन्हें रिहा कर दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here