भाजपा आतंकवाद रोधी अभियान को राजनीतिक लाभ लेने के लिए बेचने की कोशिश कर रही है- कांग्रेस नेता

0

पाक अधिकृत कश्मीर में सेना द्वारा किए गए लक्षित हमलों को लेकर भाजपा की प्रदेश इकाई द्वारा रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर को सम्मानित किए जाने की योजना की गोवा कांग्रेस ने आलोचना की है और कहा है कि भाजपा आतंकवाद रोधी अभियान को राजनीतिक लाभ लेने के लिए बेचने की कोशिश कर रही है।

कांग्रेस के गोवा प्रवक्ता सुनील कावथांकर ने कहा, जरूरत हमारे सशस्त्र बलों को प्रोत्साहित किए जाने की है और यदि भाजपा सम्मानित ही करना चाहती है तो उसे हमारे बहादुर सैनिकों को सम्मानित करना चाहिए। इस समय पर हमें हमलों का राजनीतिकरण रोकना चाहिए। उन्होंने कहा, यदि पर्रिकर यह सम्मान स्वीकार कर लेते हैं तो उन्हें जिम्मेदारी भी लेनी चाहिए और जब बारामुला जैसे हमले हों, तब उन्हें पद भी छोड़ देना चाहिए।

भाषा की खबर के अनुसार, कांग्रेस के नेता ने कहा कि लक्षित हमलों के बाद उनकी पार्टी ने सरकार के रख की सराहना की थी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा पर्रिकर की प्रशंसा भी की थी। उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा, लेकिन जिस तरह से भाजपा एक दुकान खोलकर बैठ गई है और (लक्षित हमलों को) बेचने का काम कर रही है, वह शर्मनाक है। जब उड़ी हमला हुआ या जब पठानकोट हमला हुआ, तब भाजपा ने पर्रिकर का इस्तीफा क्यों नहीं मांगा? क्या रक्षामंत्री को चूकों के लिए जिम्मेदार नहीं ठहराया जाना चाहिए?

कल गोवा फॉरवर्ड पार्टी और सत्ताधारी दल के सहयोगी एमजीपी ने भी कल होने जा रहे सम्मान समारोह के प्रति असहमति जाहिर की थी। गोवा फॉरवर्ड पार्टी ने कहा था कि भाजपा सैनिकों की बहादुरी का इस्तेमाल राजनीतिक लाभ के लिए कर रही है। एमजीपी के नेता सुदिन धावलिकर ने कहा था कि पर्रिकर को खुद ही यह सम्मान स्वीकार नहीं करना चाहिए। भारत ने 28 और 29 सितंबर की रात को नियंत्रण रेखा के पार सात आतंकी ठिकानों पर लक्षित हमले कर आतंकियों को भारी नुकसान पहुंचाया था। इन ठिकानों पर मौजूद आतंकी पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से घुसपैठ करने की फिराक में थे। उरी में आतंकियों के हमले में 19 सैनिक शहीद हो गए थे।

Pizza Hut

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here