अरविन्द केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल ने हमेशा केलिए नौकरी छोड़ी, केंद्र सरकार द्वारा सताए जाने का डर था

3

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल ने भारतीय राजस्व सेवा (आईआरएस) से स्वैच्छिक सेवा निवृत्ति (वीआरएव) ले ली है।

उनका ये फैसला राजस्व विभाग में 22 साल तक नौकरी करने के बाद आया है। अभी तक उनके इस फैसले की वजह सामने नहीं आई है लेकिन सूत्रों का कहना है कि उन्होंने ऐसा केजरीवाल की राजनीतिक ज़िम्मेदारियाँ बढ़ने की वजह से किया है।

Also Read:  निजता का अधिकार: राहुल गांधी बोले- फासीवादी ताकतों को झटका है सुप्रीम कोर्ट का फैसला
Sunita Kejriwal with husband Arvind Kejriwal
Sunita Kejriwal with husband Arvind Kejriwal

वहीँ दिल्ली सरकार के क़रीबी सूत्रों के हवाले से पीटीआई ने खबर दी कि सुनीता को डर था कि दिल्ली सरकार के साथ जारी केंद्र की लड़ाई की वजह से कहीं उन्हें सताया ना जाए।

Also Read:  BJP शासित झारखंड में मिड-डे मील घोटाला? सरकार के खाते से निजी बिल्डर को ट्रांसफर किए गए 100 करोड़ रुपये, जांच शुरू

केन्द्रीय वित्त मंत्रालय के राजस्व विभाग की तरफ से मंगलवार को जारी एक नोटिस में इसकी जानकारी दी गयी है। श्रीमती केजरीवाल की वीआरएस 15 जुलाई से मानी जायेगी। यदि वह एक साल के भीतर कोई वाणिज्यिक नियुक्ति स्वीकार करती हैं तो उन्हें इसके लिए सरकार से पूर्वानुमति लेनी होगी।

Also Read:  क्यों मनाना चाहिए हमें 26 जनवरी?

एक उच्च अधिकारी के अनुसार सुनीता अब पेंशन की सुविधा से लाभ उठा सकेंगी क्यूंकि राजस्व विभाग में वो बीस साल से अधिक समय तक नौकरी कर चुकी हैं।

3 COMMENTS

  1. ALL T BEST MAM,
    U R THE GREAT SUPPORT FOR ARVIND KEJRIWAL WHEN HE FIGHTING AGAINST OUR NATIONS BIGGEST CORRUPT, CRIMINAL ENEMIES,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here