सुनील गावस्कर ने किया मिताली राज का समर्थन, कही ये अहम बात

0

अपने समय के दिग्गज बल्लेबाज और कमेंटेटर सुनील गावस्कर भारतीय महिला क्रिकेट टीम की सबसे वरिष्ठ खिलाड़ी मिताली राज के समर्थन में आ गए हैं।

सुनील गावस्कर

इंडिया टुडे से बातचीत में सुनील गावस्कर ने कहा कि मुझे मिताली के साथ हुए बर्ताव को लेकर दुख है। मिताली का तर्क पूरी तरह से जायज है। मिताली ने बीस साल भारतीय क्रिकेट की सेवा की है और उन्होंने ढेरों रन बनाए हैं। वहीं, टी-20 विश्व में खेले दोनों मैचों में मिताली ने मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार भी जीता था।

गावस्कर ने आगे कहा, मिताली एक मैच के लिए चोटिल हो गई थीं, लेकिन वह अगले मैच के लिए फिट हो गईं। अब इसी स्थिति को पुरुष क्रिकेट में ले। अगर विराट कोहली किसी एक मैच में चोटिल हो जाते हैं और फिर नॉकआउट मुकाबले के लिए फिट हो जाते हैं तो क्या आप उन्हें उस मुकाबले से बाहर बैठा देंगे? नॉकआउट मुकाबले के लिए आपको अपने सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी को चुनना पड़ता है। टीम को मिताली के अनुभव और विशेषज्ञता की जरूरत थी।

गावस्कर ने आगे कहा कि बाहर से कोच रमेश पोवार की भूमिका पर कुछ भी कहना मुश्किल है, लेकिन मिताली को बड़े मुकाबले से बाहर बैठाने को लेकर वह भारतीय टीम के तर्क से सहमत नहीं हैं।

बता दें कि इंग्लैंड के खिलाफ टी20 विश्व कप सेमीफाइनल से बाहर करने पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए भारतीय महिला क्रिकेट टीम की सबसे वरिष्ठ खिलाड़ी और वनडे की कप्तान मिताली राज ने प्रशासकों की समिति की सदस्य डायना एडुल्जी और कोच रमेश पोवार पर अपना गुस्सा निकालते हुए आरोप लगाया है कि सत्ता यानी भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) में मौजूद कुछ लोग उन्हें बर्बाद करने की कोशिश कर रहे हैं।

मिताली राज ने बीसीसीआई को शिकायती पत्र लिखा, जिसमें उन्होंने कोच रमेश पोवार पर पक्षपात का आरोप लगाया। मिताली राज का आरोप है कि पोवार ने वेस्टइंडीज में वर्ल्ड टी-20 की शुरुआत से ही उन्हें अपमानित किया। उन्होंने अपने पत्र में खुलासा किया कि वर्ल्ड टी20 के सेमीफाइनल में टीम इंडिया से बाहर होने पर वह काफी निराश और हैरान हुईं। राज ने शिकायती पत्र में यह भी बताया कि कोच ने उन्हें ड्रेसिंग रूम में नजरबंद कर दिया था।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here