सुनंदा मर्डर केस : पुलिस ने हटाई गई चैट्स के लिए कनाडा सरकार से मांगी मदद

0

दिल्ली पुलिस ने कनाडा के न्याय विभाग को पत्र लिखकर सुनंदा पुष्कर और उनके पति तथा कांग्रेस नेता शशि थरूर के फोन से हटाई गई चैटिंग का ब्योरा मांगा है।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि विभाग को अनुरोध पत्र भेजकर रिसर्च इन मोशन लिमिटेड :ब्लैकबैरी: से चैट संदेशों का विवरण हासिल करने के लिए कहा गया है।

भाषा की खबर के अनुसार, वरिष्ठ पत्रकार नलिनी सिंह ने पुलिस को बताया था कि उन्होंने सुनंदा के साथ चैट की थी जिसमें उन्होंने बताया था कि थरूर और पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार ने कथित तौर पर संदेशों का आदान प्रदान किया था जिन्हें थरूर के फोन से हटा दिया गया था।

Also Read:  जब नरेंद्र मोदी ने स्मृति ईरानी से कहा 'मुझे अख़बार के संपादकीय से मत आंको’
Congress advt 2

17 जनवरी 2014 की रात को दक्षिण दिल्ली के एक पांच सितारा होटल के एक कमरे में 51 वर्षीय सुनंदा मृत मिली थीं। उनके मृत मिलने से एक दिन पहले थरूर के साथ तरार के प्रेम प्रसंग को लेकर उनकी उसके साथ ट्विटर पर तकरार हुई थी।

Also Read:  जम्मू-कश्मीर: शोपियां में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में मेजर सहित दो शहीद, कुलगाम में दो आतंकी ढेर

सुनंदा की मौत के मामले में थरूर सहित कई व्यक्तियों से पूछताछ की गई थी। पुलिस ने छह व्यक्तियों का पोलीग्राफ परीक्षण भी कराया था। यह सभी मामले में प्रमुख गवाह हैं जिनमें थरूर का घरेलू सहायक नारायण सिंह, चालक बजरंगी और संजय दीवान, जो दंपति का करीबी दोस्त था।

Also Read:  BJP नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने GST के बहाने शशि थरूर पर बोला हमला

फरवरी में तरार से कांग्रेस नेता और उनकी पत्नी के साथ उनके संबंधों को लेकर, ट्विटर पर सुनंदा के साथ हुए झगड़े को लेकर और सुनंदा की मौत से संबंधित अन्य मुद्दों को लेकर पूछताछ की गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here