सुनंदा मर्डर केस : पुलिस ने हटाई गई चैट्स के लिए कनाडा सरकार से मांगी मदद

0

दिल्ली पुलिस ने कनाडा के न्याय विभाग को पत्र लिखकर सुनंदा पुष्कर और उनके पति तथा कांग्रेस नेता शशि थरूर के फोन से हटाई गई चैटिंग का ब्योरा मांगा है।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि विभाग को अनुरोध पत्र भेजकर रिसर्च इन मोशन लिमिटेड :ब्लैकबैरी: से चैट संदेशों का विवरण हासिल करने के लिए कहा गया है।

Also Read:  फ़र्ज़ीराष्ट्रवादी और सत्ता में किसी भी कीमत पर बने रहने की उनकी “कायरता”

भाषा की खबर के अनुसार, वरिष्ठ पत्रकार नलिनी सिंह ने पुलिस को बताया था कि उन्होंने सुनंदा के साथ चैट की थी जिसमें उन्होंने बताया था कि थरूर और पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार ने कथित तौर पर संदेशों का आदान प्रदान किया था जिन्हें थरूर के फोन से हटा दिया गया था।

17 जनवरी 2014 की रात को दक्षिण दिल्ली के एक पांच सितारा होटल के एक कमरे में 51 वर्षीय सुनंदा मृत मिली थीं। उनके मृत मिलने से एक दिन पहले थरूर के साथ तरार के प्रेम प्रसंग को लेकर उनकी उसके साथ ट्विटर पर तकरार हुई थी।

Also Read:  आरएसएस के कार्यक्रम में बोले शंकराचार्य वासुदेवानंद सरस्वती कहा-हिंदुओं को पैदा करने चाहिए 10 बच्चे, कम हो रही है आबादी

सुनंदा की मौत के मामले में थरूर सहित कई व्यक्तियों से पूछताछ की गई थी। पुलिस ने छह व्यक्तियों का पोलीग्राफ परीक्षण भी कराया था। यह सभी मामले में प्रमुख गवाह हैं जिनमें थरूर का घरेलू सहायक नारायण सिंह, चालक बजरंगी और संजय दीवान, जो दंपति का करीबी दोस्त था।

Also Read:  Delhi Police gets FBI analysis of Sunanda Pushkar's viscera

फरवरी में तरार से कांग्रेस नेता और उनकी पत्नी के साथ उनके संबंधों को लेकर, ट्विटर पर सुनंदा के साथ हुए झगड़े को लेकर और सुनंदा की मौत से संबंधित अन्य मुद्दों को लेकर पूछताछ की गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here