दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन दरगाह के लापता सूफी मौलवी कल लौटेंगे स्वदेश

0

दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन दरगाह के दो वरिष्ठ सूफी मौलवी गुरुवार (16 मार्च) को पाकिस्तान में लापता हो गए थे।  पाकिस्तान में लापता हुए दोनों भारतीय मौलवियों का पता लग चुका है। पाकिस्तान के आधिकारिक सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, आसिफ निजामी और नजीम निजामी को हिरासत में रखा है।

सूफी मौलवी

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ‘‘पाकिस्तान विदेश कार्यालय ने इसकी पुष्टि की है कि दोनों भारतीय उलेमा का पता चल गया है और वे कराची पहुंच गए हैं।’’ यह पुष्टि उस वक्त की गई है जब एक दिन पहले ही विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज से बात की थी, अजीज फिलहाल लंदन में हैं।

इससे पहले कहा गया था कि ये दोनों उलेमा मुत्तेहिदा कौमी मूवमेंट (एमक्यूएम) के साथ कथित संबंधों को लेकर पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी की हिरासत में थे। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार सैयद आसिफ निजामी और उनके भतीजे नाजिम निजामी को 14 मार्च को लाहौर के अल्लामा इकबाल अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे से कराची जा रही शाहीन एयरलाइंस की उड़ान से उतारा गया।

सूत्रों ने पहचान उजागर ना करने की शर्त पर कहा, ‘‘खुफिया एजेंसी के कर्मियों ने विमान से उतारने के बाद दोनों उलेमा को हिरासत में ले लिया और जांच के लिए उन्हें एक अज्ञात स्थान पर ले गए।’’ उन्होंने कहा कि दोनों उलेमा को अल्ताफ हुसैन की पार्टी एमक्यूएम के साथ कथित संबंधों के लिए हिरासत में लिया गया। उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ कुछ ना पाए जाने पर उन्हें रिहा कर दिया जाएगा।

बता दें कि ये दोनों मौलवी दिल्ली के निजामुद्दीन दरगाह में रहते थे और बुधवार को पाकिस्तान (लाहौर और कराची) से लापता हो गये थे। जिसके बाद भारत ने उच्च स्तर पर पाकिस्तान से इस मसले को उठाया। मौलवियों के परिवार के अनुसार, इन दोनों को बुधवार को कराची से उड़ान भरना था। आसिफ को विमान में सवार होने की इजाजत दी गई, जबकि नाजिम को लाहौर हवाईअड्डे पर अपूर्ण दस्तावेजों के आधार पर रोक दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here