किरण बेदी और राज्यवर्धन सिंह के बाद अब सुब्रमण्यम स्वामी ने भी ट्विटर पर ‘जनता का रिपोर्टर’ को किया ब्लॉक

0

भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) की पहली महिला अधिकारी व पुडुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी और केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर के बाद अब भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने भी माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर ‘जनता का रिपोर्टर’ (@JantaKaReporter) को ब्लाॅक कर दिया है। हालांकि अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि विवादास्पद राज्यसभा सांसद ने ‘जनता का रिपोर्टर’ को क्यों ब्लाॅक किया है। 

दरअसल, बुधवार (15 नवंबर) को हम ‘पद्मावती’ फिल्म पर दीपिका पादुकोण के लिए उनके द्वारा कि गई आलोचना पर एक रिपोर्ट कर रहे थे (जिसमे स्वामी ने अपने समर्थकों से कथित तौर फर्जी खबर चलाने को लेकर टाइम्स नाउ को बहिष्कार करने का ऐलान किया है) उस वक्त हमने इस मामले में स्वामी का ट्वीट निकालने की कोशिश तब हमें जानकारी मिली कि उन्होंने ‘जनता का रिपोर्टर’ को ब्लॉक कर दिया है।

बता दें कि फिल्म की मुख्य अभिनेत्री दीपिका पादुकोण ने फिल्म के समर्थन में अपना पक्ष रखा था तो कथित तौर सुब्रमण्यन स्वामी ने उनके भारतीय होने पर ही सवालिया निशान खड़ा कर दिया था। हालांकि स्वामी ने इन खबरों को खारिज करते हुए बुधवार (15 नवंबर) को अंग्रेजी न्यूज चैनल टाइम्स नाउ को बायकॉट (बहिष्कार) करने का ऐलान कर दिया।

स्वामी ने बुधवार को दावा किया कि उन्होंने दीपिका की नागरिकता पर कभी भी सवाल खड़े नहीं किए। उन्होंने टाइम्स नाउ के एक एंकर द्वारा स्वामी के हवाले से इस खबर (दीपिका पादुकोण तो भारतीय ही नहीं) को चलाए जाने के बाद बीजेपी नेता ने आपत्ति जताते हुए ट्वीट कर कहा कि उन्होंने ऐसा कभी बयान दिया ही नहीं है। साथ ही टाइम्स नाउ के एंकर से नाराज स्वामी ने अपने समर्थकों से टाइम्स नाउ को बहिष्कार करने की घोषणा कर दी।

आपको बता दे कि दीपिका पादुकोण ने न्यूज एजेंसी IANS को दिए एक इंटरव्यू में कहा था कि कोई भी चीज इस फिल्म ‘पद्मावती’ के प्रसारण पर रोक नहीं लगा सकती। दीपिका ने कहा था कि, ‘हम जिसके प्रति जवाबदेह हैं, वह सिर्फ सेंसर बोर्ड है। मैं जानती हूं और मेरा विश्वास है कि इस फिल्म की रिलीज को कोई रोक नहीं सकता।’

दीपिका ने आगे कहा था कि फिल्म इंडस्ट्री का समर्थन बताता है कि यह सिर्फ ‘पद्मावती’ की बात नहीं है। उन्होंने कहा कि इससे हमें क्या मिला? और एक राष्ट्र के रूप में हम कहां पहुंच गए हैं? हम आगे बढ़ने के बदले पीछे गए हैं। उन्होंने कहा कि हमारी जवाबदेही सिर्फ सेंसरबोर्ड के प्रति है और मैं जानती हूं और मेरा मानना है कि फिल्म को रिलीज होने से कुछ भी नहीं रोक सकता।

बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने मंगलवार (14 नवंबर) को दीपिका के ‘पिछड़े होने’ के बयान पर उनपर निशाना साधा। स्वामी ने ट्वीट किया कि, ‘एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण हमे पिछड़े होने(रिग्रेशन) पर भाषण दे रही हैं। देश तभी आगे हो सकता है, जब उनके मुताबिक हम आगे बढ़ें।’

जबकि कथित तौर पर टाइम्स नाउ ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया कि एक यूजर ने स्वामी के ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा कि वह (दीपिका पादुकोण) नीदरलैंड की नागरिक हैं। इस पर स्वामी ने टिप्पणी करते हुए लिखा कि, ‘अगर यह सही है, तो उन्हें अवश्य ही इसका खुलासा करना चाहिए। यह पूरी तरह से केवल भारतीय बहस है।’

जबकि बीजेपी नेता ने बुधवार को टाइम्स नाउ की रिपोर्ट को खारिज करते हुए कहा कि न्यूज एक्स से टाइम्स नाउ नेटवर्क में आए एक एंकर मेरे हवाले से कहा कि कोपेनहेगन की नागरिक है, वह भारत के मुद्दों पर बयान नहीं दे सकती। स्वामी ने कहा कि जबकि उन्होंने ऐसा बयान दिया ही नहीं। उन्होंने आगे लिखा, बॉयकॉट टीएनएन?

गौरतलब है कि ट्विटर पर ‘जनता का रिपोर्टर’ को ब्लॉक करने वाले स्वामी सत्तारूढ़ बीजेपी के तीसरे हाई प्रोफाइल नेता बन गए हैं। इससे पहले पुडुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी और केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने भी आलोचनात्मक रिपोर्ट प्रकाशित करने की वजह से इसी तरह के हथकंडे अपना चुके हैं।

हालांकि ऐसी आशंका जताई जा रही है कि मोदी सरकार बनने के बाद राफेल डील को लेकर ‘जनता का रिपोर्टर’ द्वारा किए गए एक खुलासे को लेकर स्वामी ने ब्लॉक कर दिया हो, लेकिन इस बात की अभी पुष्टि नहीं हो पाई है। बता दें कि ‘जनता का रिपोर्टर’ द्वारा राफेल डील को लेकर खुलासे के बाद मोदी सरकार विपक्ष के निशाने पर आ गई है।

Pizza Hut

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here