जी एंटरटेनमेंट पर नहीं रहेगा सुभाष चंद्रा का नियंत्रण, जानिए क्यों

0

मीडिया बैरन सुभाष चंद्रा के नेतृत्व वाले एस्सेल ग्रुप ने ज़ी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड (ZEEL) में 16.5 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने का फैसला किया है। कंपनी का कहना है कि समूह का कर्ज चुकाने के लिए यह कदम उठाया जा रहा है। इस लेनदेन के बाद जी एंटरटेनमेंट में प्रमोटर की हिस्सेदारी घटकर 5 प्रतिशत रह जाएगी, जिसका अर्थ है कि सुभाष चंद्रा जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज का नियंत्रण खो देंगे।

सुभाष चंद्रा
फाइल फोटो: सुभाष चंद्रा

बता दें कि, भारत में टेलीविजन मनोरंजन उद्योग के अग्रणी माने जाने वाले जी को 1992 में सुभाष चंद्रा ने लॉन्च किया था। इस लॉन्चिंग के बाद कंपनी ने पैकेजिंग, इन्फ्रास्ट्रक्चर, शिक्षा, वित्त और प्रौद्योगिकी क्षेत्रों में विस्तार किया है। इस साल की शुरुआत में एस्सेल ग्रुप ने जी एंटरटेनमेंट के 11 फीसदी शेयर 4,224 करोड़ कीमत में इनवेस्को ओपेनहाइमर डेवलपिंग मार्केट्स फंड को बेचे थे।

साथ ही समूह ZEEL में 2.3 प्रतिशत हिस्सेदारी OFI ग्लोबल चाइना फंड, LLC और / या इसके सहयोगियों को बेचना चाहती है। उपरोक्त लेनदेन के बाद ZEEL में समूह के कुल हिस्सेदारी 5 फीसदी रह जाएगी, जिसमें से समूह की एनंबोल्ड होल्डिंग्स घटकर ZEEL के 1.1 प्रतिशत रह जाएगी।

बुधवार की घोषणा से पहले चंद्रा के एस्सेल समूह की कंपनियों ने ज़ी की 22.37 प्रतिशत हिस्सेदारी थी। इसमें से 21.48 प्रतिशत एस्सेल ग्रुप फर्मों द्वारा प्राप्त वित्त के खिलाफ संपार्श्विक के रूप में गिरवी रखा गया था। कंपनी द्वारा बुधवार को घोषित लेनदेन के पूरा होने के बाद ओपेनहाइमर डेवलपिंग मार्केट्स फंड और ओएफआई ग्लोबल चाइना की एक साथ 18.74 प्रतिशत हिस्सेदारी हो जाएगी। बुधवार को बीएसई में Zee एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज का शेयर 7.89 फीसदी बढ़कर 307.15 रुपए पर बंद हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here