जी एंटरटेनमेंट की 50 फीसदी हिस्सेदारी बेच सकते हैं सुभाष चंद्रा, खरीदारों में मुकेश अंबानी की रिलायंस सबसे ऊपर

0

अगर खबरों की मानें तो भारत में मीडिया की एक बड़ी डील होने जा रही है। जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज ने मंगलवार (13 नवंबर) को कहा कि सुभाष चंद्रा के नेतृत्व में उसके प्रमोटर्स (प्रवर्तक), कंपनी में अपनी इक्विटी हिस्सेदारी का 50 प्रतिशत तक रणनीतिक साझेदार को बेचने की योजना बना रहे हैं।

समाचार एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, इस कदम से एस्सल समूह (प्रमोटर) के पूंजी आवंटन प्राथमिकताओं को पूरा करने में मदद मिलने की उम्मीद है। इससे वह नई प्रौद्योगिकी (टेक्नोलॉजी) का विकास कर सकेंगे, ताकि कंपनी को नई टेक्नोलॉजी आधारित मीडिया कंपनी में तब्दील किया जा सके।

एक नियामकीय सूचना में, जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड (जेईईईएल) ने कहा कि उसके प्रमोटर्स ने कंपनी में अपनी 50 प्रतिशत तक की इक्विटी हिस्सेदारी, एक रणनीतिक साझेदार को बेचने/विनिवेश करने का इरादा जताया है। एस्सल ने एक बयान में कहा, चंद्रा और परिवार ने बदलते वैश्विक मीडिया परिदृश्य के मद्देनजर अपने कारोबार की रणनीतिक समीक्षा करने के लिए अपने सलाहकारों के साथ दिवाली के बाद मुंबई में बैठक की थी।

अंग्रेजी अखबार द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, जी एंटरटेनमेंट में चंद्रा की हिस्सेदारी 41.6 फीसदी है। कंपनी की मार्केट वैल्यू करीब 42,088 करोड़ है। 2017-18 में कंपनी का रेवेन्यू 7126 करोड़ और प्रॉफिट 1,478 करोड़ रुपये था। जी ग्रुप के पास 7 सूचीबद्ध और कई गैरसूचीबद्ध कंपनियां हैं। जी में हिस्सेदारी के संभावित खरीदारों में कई नामों की चर्चा चल रही है, लेकिन मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड का नाम सबसे ऊपर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here