VIDEO: यूपी के मिर्जापुर में सरकारी स्कूल के बच्चों को मिड डे मील में दी गई नमक-रोटी, प्रियंका गांधी ने सरकार पर साधा निशाना

0

उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर जिले के एक प्राथमिक स्‍कूल में पढ़ाई करने वाले करीब 100 बच्‍चों को ‘मिड-डे मील’ के नाम पर नमक और रोटी बांटा गया। रोटियां और नमक खाते हुए बच्‍चों का वीडियो अब सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो गया है, जिसकी लोग जमकर अलोचना कर रहें है। उधर, वीडियो वायरल होने के बाद प्रशासन हरकत में आया और मामले की जांच के बाद दो शिक्षकों को सस्‍पेंड कर दिया गया है।

मिर्जापुर

बच्‍चों को नमक बांटने की घटना मिर्जापुर जिले के जमालपुर ब्‍लॉक के सियूर प्राथमिक विद्यालय में हुई। सामने आए वीडियो में देखा जा सकता है कि स्कूल ड्रेस पहने बच्चे विद्यालय के बरामदे में फर्श पर बैठे हैं और उनके थाली में उन्‍हें मिड-डे मील के रूप में नमक और रोटी दी गई है। मासूम बच्‍चे इच्‍छा नहीं होने के बावजूद नमक और रोटी खाने के लिए मजबूर दिखाई दे रहे हैं। वीडियो वायरल होने के बाद जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने फौरन मामले की जांच का आदेश दिया है।

जिलाधिकारी ने बच्‍चों को नमक और रोटी बांटने के आरोपी शिक्षकों मुरारी और अरविंद त्रिपाठी को सस्‍पेंड कर दिया है। जिलाधिकारी ने बताया कि खंड शिक्षा अधिकारी को नोटिस जारी किया गया है। उनका जवाब आने के बाद संतोषजनक उत्‍तर नहीं मिलने पर उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

वहीं, इस मामले को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर योगी सरकार पर निशाना साधा है। प्रियंका गांधी ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा, “मिर्जापुर के एक स्कूल में बच्चों को मिड-डे-मील में नमक रोटी दी जा रही है। ये उत्तर प्रदेश भाजपा सरकार की व्यवस्था का असल हाल है। जहाँ सरकारी सुविधाओं की दिन-ब-दिन दुर्गति की जा रही है। बच्चों के साथ हुआ ये व्यवहार बेहद निंदनीय है।”

बता दें कि, सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले गरीब परिवार के बच्चों को उचित पोषण और आहर देने के लिए केंद्र सरकार ने मिड-डे मील योजना शुरू की थी। पूरे देश में केंद्र सरकार की ओर से चलाई जा रही मिड डे मील योजना बच्चों को पोषण देने के लिए है। इस योजना पर सरकार सालाना 12,000 करोड़ रुपये खर्च करती है। लेकिन हकीकत में बच्चे का हक मारकर भ्रष्ट इंतजामिया खुद की जेब भरने में लगा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here