नोटबंदी- घर में छुट्टे पैसे नहीं होने के कारण बीएसएफ जवान के बेटे ने की खुदकुशी

0

नोटबंदी के बाद से आत्महत्याओं की खबरें लगातार सुनने में आ रही हैं। नई घटना बुलंदशहर में अनूपशहर के मलकपुर गांव की है। 500-1000 के नोट बैन के चलते यहां एक 12वीं के स्‍टूडेंट ने सुसाइड कर लिया।

17 वर्षीय मृतक सुमित जेपी विद्या मंदिर में 12वीं का स्‍टूडेंट था। खबर के अनुसार मृतक अमित करेंसी चेंज कराने के लिए पिछले 3 दिन से बैंक के चक्‍कर काट रहा था, लेकिन उसकी करेंसी चेंज नहीं हो सकी। जिसके चलते उसने इस गम्भीर कदम को उठाया।

bulandshahr_1479207482

दैनिक भास्कर की खबर के अनुसार, सुमित पिछले तीन दिनों से 500 और 1000 रुपए के नोट चेंज कराने के लिए एसबीआई बैंक के चक्कर काट रहा था, लेकिन नोट चेंज नहीं हो रहे थे।
घरवालों का कहना है कि घर में जो भी 50-100 के नोट थे, वो खत्म हो चुके थे। वहीं, 500-1000 रुपए के नोट कोई ले नहीं रहा था। इसी बात से दुखी होकर सुमित ने सोमवार देर रात अपने कमरे में पंखे से लटककर सुसाइड कर लिया। सुमित के पिता बीएसएफ के जवान हैं और इस समय नेपाल बॉर्डर पर तैनात हैं। इसके अलावा सुमित के परिवार में पिता समेत तीन अन्य सदस्य फौज में हैं।
एसपी सिटी मानसिंह चैहान ने बताया कि स्‍टूडेंट के सुसाइड की वजह घर में छुट्टे पैसे न होना बताया जा रहा है। इस वजह से ही वो परेशान था। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। परिजनों की तहरीर के आधार पर जांच प्रक्रिया आगे बढ़ाई जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here