महाराष्ट्र: दंगा प्रभावित औरंगाबाद में तनाव की स्थिति बरकरार, इंटरनेट सेवा बहाल

0

महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में शुक्रवार (11 मई) देर रात दो समुदायों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद बनी तनाव की स्थिति आज भी तनावपूर्ण है, लेकिन नियंत्रण में है। शहर में चार दिन पहले हुई हिंसा में दो व्यक्तियों की जान चली गयी थी और 12 पुलिसकर्मियों सहित 60 लोग जख्मी हो गए थे।

file Photo: @rtiindiapy

समाचार एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक, एक अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने करीब 3,000 अज्ञात लोगों पर आगजनी, दंगा करने और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का मामला दर्ज किया है। उन्होंने बताया कि आज सुबह इंटरनेट सेवाओं को बहाल कर दिया गया, शहर में लगाई गई निषेधाज्ञा हटा दी गई है।

अधिकारी ने बताया कि स्थानीय पुलिस के अलावा राज्य रिजर्व पुलिस बल की सात बटालियन हिंसा प्रभावित क्षेत्र में तैनात की गई हैं। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक बिपिन बिहारी ने शहर में हालात का जायजा लेने के बाद यह स्वीकार किया कि पुलिस हिंसा पर लगाम लगाने और उसे फैसले से रोकने में नाकाम रही और वह दंगाईयों के खिलाफ कार्रवाई करने में भी असफल रही।

बता दें कि, औरंगाबाद में दंगाइयों पर काबू पाने के लिए पुलिस को गोलियां तक चलानी पड़ीं थी। विवाद के बाद औरंगाबाद में कई जगहों पर आगजनी और तोड़फोड़ की घटनाएं हुईं। दोनों पक्षों के बीच हुई हिंसक झड़प में करीब 50 से अधिक दुकानों को आग के हवाले कर दिया गया जबकि दर्जनों गाड़ियां जला दी गईं।

ख़बरों के मुताबिक, दो सुमदायों के बीच मामूली बात पर झगड़ा हुआ था जिसने बढ़ते-बढ़ते सांप्रदायिक रूप ले लिया, इस वजह से बीती रात सैकड़ों युवक सड़कों पर उतर आये और पत्थरबाजी शुरू कर दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here