इटली के सुप्रीम कोर्ट ने कहा, अगर आप भूखे है तो खाना चुराना अपराध नहीं

0
>

इटली के सुप्रीम कोर्ट ने एक बेहद ‘मानवतापूर्ण’ फैसला सुनाया है। कोर्ट ने कहा है कि अगर आप बेहद भूखे हैं तो ऐसी स्थिति में थोड़ी मात्रा में भोजन चुराने को अपराध नहीं माना जाना चाहिए।
_89550162_gettyimages-459241278

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, जजों ने रोमन ओस्ट्रियाकोव नाम के शख्स के खिलाफ चोरी के अपराध में दोषी होने के निचली अदालतों के फैसले को पलट दिया। इस शख्स ने एक सुपरमार्केट से चीज़ और सॉस चुरा लिए थे। इनकी कीमत करीब 4.50 डॉलर बताई गई।

Also Read:  MP: किसानों का उग्र प्रदर्शन जारी, टोल प्लाजा पर की तोड़फोड़ और लूटपाट, बाइक से मंदसौर जा रहे हैं राहुल गांधी

कैसेशन की अदालत ने कहा कि ओस्ट्रियाकोव यूक्रेन मूल का एक बेघर व्यक्ति हैं। उसने पोषण की तुरंत और महत्वपूर्ण जरूरत के लिए भोजन लिया था। इसलिए यह एक अपराध नहीं है।

वहां मौजूद एक ग्राहक ने स्टोर सिक्योरिटी को 2011 में यह शिकायत की थी। उसने बताया था कि जब इस शख्स ने जिनोआ सुपरमार्केट से चीज़ के दो पीस और सॉस के एक पैकेट के साथ बाहर आने की कोशिश की। उसने इन्हें पॉकेट में रखा था लेकिन पैसे केवल ब्रेडस्टिक्स के लिए ही दिए।

Also Read:  उत्तराखंड: बादल फटने से 6 सैनिकों सहित करीब 25 लोगों की मौत

2015 में शख्स पर चोरी का आरोप सिद्ध किया गया। उसे 6 महीने की जेल की सज़ा दी गई। इसके अलावा 100 पाउंड का जुर्माना भी लगाया गया था।

इटली के एक अखबार ने एक लेख में इस बारे में लिखा है। जिसके मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट के जजों ने जीवन के अधिकार को सम्पत्ति से ऊपर माना। कोर्ट का फैसला हर किसी को याद दिलाता है कि “आर्थिक तंगी के समय में सभ्य देश में सबसे खराब हाल का व्यक्ति भी भूखा नहीं रहना चाहिए।”

Also Read:  UP: पहली ही परीक्षा में फेल हुई योगी सरकार, गाजीपुर उपचुनाव में सत्ताधारी दल BJP की शर्मनाक हार

(Source: BBC)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here