दिल्ली टेस्ट: ‘श्रीलंकाई खिलाड़ियों का मास्क पहनना हमारे लिए शर्मनाक’

0

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राजधानी दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर भारत और श्रीलंका के बीच खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच के दौरान वायु गुणवत्ता खराब होने के कारण श्रीलंकाई क्रिकेट खिलाड़ियों द्वारा प्रदूषण से बचने के लिए मास्क पहनने की घटना पर शर्मिंदगी जताई हैं।

(Source: AP/AFP)

न्यूज एजेंसी IANS की रिपोर्ट के मुताबिक ममता ने कोलकाता में मीडिया से कहा कि, ‘यह अच्छी बात नहीं है कि स्मॉग के कारण मेहमान टीम के खिलाड़ी एक अंतर्राष्ट्रीय मैच के दौरान मास्क पहन रहे हैं। हर दिन प्रदूषण बढ़ता जा रहा है। इससे देश का नाम अच्छा नहीं हो रहा। मुझे लगता है कि दिल्ली में प्रदूषण को कम किया जाना चाहिए। इसके लिए दिल्ली को साथ मिलकर इस समस्या को सुलझाने के लिए बात कर फैसला लेना चाहिए।’

उन्होंने कहा कि, ‘राजधानी दिल्ली में प्रदूषण एक सबसे बड़ी समस्या है। मुझे काफी शर्मिंदगी हुई, वरना मैं यह बात कभी नहीं कहती। यह कोई राजनीति, बल्कि एक वास्तविक मुद्दा है।’ दरअसल, फिरोजशाह कोटला मैदान पर भोजनकाल के बाद रविवार को श्रीलंकाई खिलाड़ियों को मास्क पहने देखा गया था। इस दौरान स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों का सामना करना पड़ा था।

अंपायरों ने इस बारे में खिलाड़ियों के साथ बात की और इस कारण मैच कई बार बाधित हुआ। मेहमान टीम के खिलाड़ी बार-बार सांस लेने में तकलीफ की शिकायत कर रहे थे। इस दौरान श्री लंकाई टीम के सिर्फ खिलाड़ी ही नहीं बल्कि मैदान के बाहर बैठा टीम का सपॉर्ट स्टाफ भी मास्क लगाए हुए दिखा।

इसके बाद फिरोजशाह कोटला मैदान पर खेले जा रहे तीसरे और अंतिम निर्णायक टेस्ट मैच के चौथे दिन मंगलवार (5 दिसंबर) को उस समय एक बार फिर शर्मनाक स्थिति पैदा हो गई, जब प्रदूषण के कारण श्रीलंकाई खिलाड़ी मैदान पर मास्क पहन कर उतरे। वहीं मेहमान टीम के तेज गेंदबाज सुरंगा लकमल ने बीच मैदान पर ही उल्टी कर दी।

NGT ने जताई नाराजगी 

इस बीच भारत और श्रीलंका के बीच दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान में तीसरे टेस्ट के दौरान प्रदूषण को लेकर जारी विवाद के बीच नेशनल ग्रीन ट्राइब्यूनल (NGT) ने गहरी नाराजगी जताई है। दिल्ली में खतरनाक स्तर के स्मॉग के बीच टेस्ट मैच की अनुमति देने के लिए अथॉरिटीज को फटकार लगाई गई है। NGT ने कहा कि स्थिति बद से बदतर हो रही है। बच्चे भी परेशान हैं और दिल्ली सरकार ने अभी तक ऐक्शन प्लान भी नहीं दिया है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here