उमर खालिद और अनिर्बान का केस आतंकी गतिविधियों की जांच करने वाली “स्पेशल सेल” के पास

3

दिल्ली पुलिस की एक स्पेशल टीम ने कल जेनएयू के हॉस्टल जाकर उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य के लैपटॉप को अपने कब्ज़े में ले लिया।

दिल्ली पुलिस की यह स्पेशल टीम आतंकवादी गतिविधियों की जांच करती है।

उमर खालिद और अनिर्बान को इसी स्पेशल टीम को सौंप दिया गया है ।

Also Read:  पेरिस हमलों के बाद 'बेफिक्रे' फिल्म की शूटिंग के लिए दी गई थी जगह बदलने की सलाह- रणवीर सिंह

खालिद और अनिर्बान को फरवरी में देशद्रोह के आरोप में में हिरासत में लिया गया था।

सूत्रों ने बताया कि स्पेशल सेल के अधिकारी उन बाहरी लोगों के बारे में भी पता लगाने की कोशिश कर रहे थे जिन्होंने कथित तौर पर भारत विरोधी नारें लगाएं थे।

खालिद और अनिर्बान फ़िलहाल न्यायिक प्रक्रिया के अंतर्गत जेल में बंद हैं।

Also Read:  Five times increase in heinous crimes in Delhi in 15 years

सूत्रों ने बताया है कि पुलिस उनकी कस्टडी ले सकती है।

उन्होंने बताया कि शुरुवाती पूछताछ में एक कश्मीरी युवक का नाम आया जिसको ढूंढने के लिए एक टीम कश्मीर भी गयी लेकिन वह नहीं मिला।

माना यह जा रहा है कि स्पेशल टीम सरकार की इंटेलिजेंस एजेंसी से भी इस मामले में मदद ले सकती है।

Also Read:  एंबुलेस के लिए नहीं थे 400 रुपये इसलिए रेहड़ी पर पिता का शव ले जाने पर मजबूर हुआ बेटा

सूत्रों ने बताया है कि पुलिस फ़िलहाल अनिर्बान और खालिद के मोबाइल फ़ोन तो नहीं ढूंढ पायी लेकिन 9 फरवरी के पहले और बाद में होने वाले कॉल रिकार्ड्स निकाल लिए हैं।

3 COMMENTS

    • India division they need in the name of intellectuality and freedom of speech. If some one say some thing against Pakisthan in Pak He will be killed for that. DUAL POLICIES AND DUEL STANDARDS BY THESE NEGATIVE INTELLECTUALS OF JNU

  1. Hemant Desai 14 days ago

    Rifat miya we all know ur allegiance with Kejriwal. Anyway no body takes JKR seriously. Its existence is unknown to many. Even modi hater do not follow ur crap

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here