VIDEO: 'इससे पहले कि आपकी आने वाली नस्लें आपसे सवाल करें, सत्ताधारी नेताओं से सवाल पूछिए', बिहार की जर्जर स्थिति पर रिफत जावेद का स्पीक अप इंडिया

0


‘स्पीक अप इंडिया’ भाग- 2 में बीबीसी के पूर्व संपादक और ‘जनता का रिपोर्टर’ के एडिटर इन चीफ रिफत जावेद ने देश और बिहार में जर्जर स्थिति को लेकर अपना नजरिया पेश किया है। रिफत जावेद ने लोगों से अपील की है कि इससे पहले कि हमारी आने वाली नस्लें हमसे सवाल करें, हमें सत्ताधारी नेताओं से सवाल करने की आदत डालनी चाहिए।
गौरतलब है कि इससे पहले भी ऑल इंडिया मुस्लिम बेदारी कारवां के तत्वाधान में रविवार को दरभंगा स्थित डीएमसीएच लेक्चर थियेटर में ‘‘बिहार की सियासत में उभरते रुझान’’ के विषय पर एक राष्ट्रीय सेमिनार के दौरान उन्होंने बिहार की हालात पर अपना नजरिया पेश किया था।
आपको बता दें कि जिस दिन रिफत जावेद दरभंगा के सेमिनार से लौट रहे थे, उसी दिन वह मुजफ्फरपुर के उस घटनास्थल से मात्र पांच मिनट पहले ही निकले थे, जहां पूर्व मेयर समीर कुमार और उनके चालक की हत्या कर दी गई।गौरतलब है कि मुजफ्फरपुर के नगर थाना अंतर्गत अग्निशमन कार्यालय के समीप रविवार शाम आधुनिक स्वचालित हथियारों से लैस अज्ञात अपराधियों ने पूर्व मेयर समीर कुमार और उनके ड्राइवर पर अंधाधुंध गोलीबारी कर उनकी हत्या कर दी।
बिहार में कानून-व्यवस्था की स्थिति जर्जर
बिहार में पिछले बरस हर दिन जहां बलात्कार की तीन से ज्यादा घटनाएं हुईं, वहीं अपहरण के 18 से ज्यादा मामले हर रोज दर्ज किए गए। वहीं, इस वर्ष की पहली छमाही के आंकड़े भी कुछ ऐसे ही हैं। राज्य के पुलिस मुख्यालय से समाचार एजेंसी भाषा को मिली जानकारी के मुताबिक, वर्ष 2017 के दौरान प्रदेश में महिला अपराध से जुडे़ कुल 15,784 मामले प्रकाश में आए। इनमें बलात्कार के 1199, अपहरण के 6817, दहेज हत्या के 1081, दहेज प्रताड़ना के 4873 और छेड़खानी के 1814 मामले शामिल हैं।
वर्ष 2018 के जून तक बिहार में महिला अपराध के कुल 7683 मामले प्रकाश में आए। इनमें बलात्कार के 682, अपहरण के 2390, दहेज हत्या के 575, दहेज प्रताड़ना के 1535, छेड़खानी के 890 और महिला प्रताड़ना के 1611 मामले शामिल हैं। मुंबई स्थित टाटा इन्स्टीट्यूट ऑफ सोशल साईंस द्वारा गत 27 अप्रैल को सौंपी गई सामाजिक अंकेक्षण रिपोर्ट के आधार पर मुजफ्फरपुर जिला स्थित एक बालिका गृह में 34 लड़कियों के यौन शोषण का मामला सामने आया।
वैशाली जिले के एक अल्पावास गृह में महिलाओं के यौन उत्पीड़न का मामला प्रकाश में आया। गत 20 अगस्त को भोजपुर जिले के बिहिया थाना क्षेत्र में एक युवक की हत्या के संदेह में एक महिला को कथित तौर पर निर्वस्त्र कर घुमाया गया। बिहार के कैमूर, जहानाबाद, नालंदा, सहरसा, दरभंगा आदि जिलों में लड़कियों के साथ छेड़खानी के वीडियो वायरल होने, अश्लील फोटो एवं वीडियो अपलोड करने के मामले भी सामने आए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here