हमें खेद है कि हमने विवादास्पद स्वामी ओम की खबरें प्रसारित की, लेकिन अब नहीं !

0

स्वयं को तांत्रिक कहने वाला और हिंदू महासभा का सदस्य स्वामी ओम रियलिटी शो ‘बिग बाॅस’ के कारण चर्चा में आया था। स्वामी ओम ने अभिनेता सलमान खान पर बेतुके आरोप लगाए थे, उन्हें ISI एजेंट कहा था। इसके अलावा सोनिया गांधी के बारें में कई अपमानजनक बातें करते हुए स्वामी ओम ने उनपर खुद को बिग्ग बॉस से बाहर करने का आरोप भी लगाया था।

बिग्ग बॉस बाहर निकाले जाने के बाद ये बाबा कई टीवी कार्यक्रमों का हिस्सा बना जहां उसने अपनी हिंसक कार्रवाई जारी राखी।

स्वामी ओम

स्वामी ओम के लिए अपनी हिंसक हरकतों और बयानों के कारण सस्ती लोकप्रियता पाने का तरीका कोई नया नहीं है। सितंबर 2015 में एक और विवादास्पद गुरु राधे माँ पर हो रहे टीवी प्रोग्राम के दौरान स्वामी ओम ने चैनल में भाग ले रही अन्य वक्ता पर बातचीत के दौरान हमला बोल दिया था।

हाल की सभी हरकतों के बावजूद नेशनल मीडिया ने बतौर एक मेहमान स्वामी ओम को बुलाना जारी रखा। बिग्ग बॉस के घर से बाहर निकाले जाने के बाद कम से कम दो टीवी कार्यक्रमों में स्वामी ओम ने हिंसात्मक कारवाई को अंजाम दिया है। एक शो में इस बाबा ने गिलास भरा पानी ऐंकर के मुंह पर दे मारा जबकि दूसरे में न्यूज़ रूम को ही एक लड़ाई के मैदान में बदल दिया।

किसी ज़माने में इस तरह के फूहड़ दृश्य और हरकतें दिखाना पाकिस्तानी टीवी चैनलों का तरीका हुआ करता था और हम भारत में उन पर हंस कर उनकी अनुभवहीनता का मजाक उड़ाया करते थे। हाल ही में हुई बाबा की घटनाओं को दिखाने में हमारे मीडिया ने पाकिस्तानी मीडिया को भी पीछे छोड़ दिया है।

टीआरपी की रेस में हमने अपनी नैतिक जिम्मेदारियों की परवाह ना करते हुए मुख्यधारा के मीडिया में इस बाबा को जगह देकर केवल अपने टीआरपी के बारें में सोचा और स्वामी ओम जैसे व्यक्तियों को गर्व के साथ अपने कार्यक्रमों में आमंत्रित करते रहे। ये वो लोग हैं जो महिलाओं के खिलाफ आपत्तिजनक बयान देकर, उनपर हिंसा कर के और नफरतों की राजनीति के द्वारा समाज में ज़हर घोलने का काम करते हैं।

जबकि मुख्यधारा की खबरें दिखाने के प्रति गम्भीर ‘जनता का रिपोर्टर’ भी इस तरह की खबरें प्रसारित करने का जिम्मेदार रहा। दुखद बात है कि स्वामी ओम का नाटक चालू रहा और हम खबर दिखाकर इस बात के गवाह बनते रहे। मुख्यधारा की खबरों की आड़ में स्वामी ओम ने नेशनल मीडिया का ध्यान खींच लिया जिसके हम भी शिकार हो गए।

लेकिन अपनी गलती को सुधारने की कोई समय सीमा नहीं होती और इसी वजह से इस बात का अहसास होने पर ‘जनता का रिपोर्टर’ ने तुरन्त स्वामी ओम और उन जैसे दुसरे लोगों के वहिष्कार का फैसला किया है।

हमने अपनी वेबसाइट के सभी पेजों व सोशल मीडिया प्लेटफार्म से उन सभी खबरों को हटा दिया है जो स्वामी ओम से जुड़ी हुई थी जिनमें सलमान खान पर बेतुके आरोप, महिलाओं के प्रति अपमान व सनसनीखेज बयानों वाली खबरें थी।

हमें लगता है कि इससे हमारे पाठकों की बड़ी संख्या घट जाएगी जो ऐसी खबरें मजे लेकर पढ़ती है लेकिन हमारी वेबसाइट पर ऐसी खबरों के लिए कोई जगह नहीं है।

सामाजिक दायित्वों और जिम्मेदारियों के प्रति जनता का रिपोर्टर गम्भीर है। क्योंकि ये कोई रियल्टी शो नहीं जहां मनोरजंन के नाम पर फूहड़ता परोसी जाती हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here