शीला दीक्षित के निधन पर सोनिया गांधी ने बेटे संदीप को लिखा भावुक पत्र

0

यूपीए अध्यक्ष और कांग्रेस संसदीय दल की नेता सोनिया गांधी ने दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के निधन पर दुख जताते हुए शनिवार को कहा कि उन्होंने दिल्ली और पार्टी के लिए पूरे समर्पण के साथ काम किया। सोनिया ने शीला के निजामुद्दीन ईस्ट स्थित आवास पर पहुंचकर श्रद्धांजलि दी।

फाइल फोटो।

सोनिया ने शीला के पुत्र संदीप दीक्षित को लिखे पत्र में कहा, ‘मेरे पति (राजीव गांधी) शीला जी का बहुत सम्मान करते थे। मेरे भी उनसे अच्छे रिश्ते थे। हमने उनके दिल्ली की मुख्यमंत्री, डीपीसीसी की प्रमुख और इंदिरा गांधी स्मृति न्यास के सचिव रहने दौरान साथ मिलकर काम किया।’

उन्होंने कहा, ‘शीला जी ने दिल्ली को बदलने और सभी नागरिकों के रहने के लिहाज से इसे बेहतर स्थान बनाने के लिए स्पष्ट दृष्टकोण और समर्पण के साथ काम किया। उनकी यही शानदार उपलब्धि उनकी आखिरी छाप रहेगी।’ सोनिया ने कहा, ‘उन्होंने जो कुछ भी किया उसमें वह मानवता और उत्कृष्टता लेकर आईं। उन्होंने आखिरी समय तक पूरे साहस और वफादारी के साथ कांग्रेस पार्टी की सेवा की।’

यूपीए प्रमुख ने कहा, ‘मेरी प्रार्थना है कि ईश्वर आपको यह दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करे।’ गौरतलब है कि दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष शीला का शनिवार (20 जुलाई) को दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह 81 साल की थीं। वह 1998 से 2013 के बीच 15 सालों तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं। राष्ट्रीय राजधानी में पार्टी को फिर से खड़ा करने के मकसद से उन्हें कुछ महीने पहले ही दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष बनाया गया था।

सोनिया गांधी के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शनिवार को कांग्रेस की वरिष्ठ नेता शीला दीक्षित के आवास पहुंचे और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके अलावा कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया, अहमद पटेल, किरण वालिया, जगदीश टाइटलर, शिवराज पाटिल, नगमा, अशोक वालिया, भाजपा के विजय गोयल और माकपा नेता सीताराम येचुरी तथा बृंदा करात उन्हें श्रद्धांजलि देने निजामुद्दीन स्थित आवास पहुंचे।

वहीं, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, कांग्रेस नेता राहुल गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल समेत कई अन्य नेताओं ने उनके निधन पर शोक प्रकट किया है। दीक्षित पहली बार साल 1984 में उत्तर प्रदेश के कन्नौज से सांसद चुनी गईं। बाद में वह दिल्ली की राजनीति में सक्रिय हुईं। शीला के पुत्र संदीप दीक्षित भी राजनीति में हैं। वह पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट से 2004 से 2014 बीच दो बार सांसद रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here