“सोनिया और राहुल गांधी ने अगस्ता वेस्टलैंड डील में कभी हस्तक्षेप नहीं किया”

0

अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर घोटाले के कथित बिचौलिये क्रिश्चियन मिशेल द्वारा प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की पूछताछ में ‘मिसेज गांधी’ का नाम लिए जाने के बाद मोदी सरकार कांग्रेस पर लगातार हमलावर है। बीजेपी ‘मिसेज गांधी’ को यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी से जोड़कर कांग्रेस पर हमलावर है। इस बीच अब कांग्रेस ने मोदी सरकार पर हमला बोला है। पूर्व रक्षामंत्री एके एंटनी यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बचाव में उतरे हैं।

फाइल फोटो: NDTV

एंटनी ने कहा है कि अगस्ता वेस्टलैंड डील मामले में सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने कभी कोई हस्तक्षेप नहीं किया। ऐसा ‘झूठ गढ़ने’ के लिए बीजेपी केंद्रीय एजेंसियों का इस्तेमाल कर रही है। बता दें कि डील के बिचौलिए क्रिस्चन मिशेल ने पूछताछ में ‘मिसेज गांधी’ का नाम लिया था। जिसके बाद देश की राजनीति में एक बार फिर घमासान मच गया। हालांकि अभी यह साफ नहीं हो सका है कि मिशेल ने यह नाम किस संदर्भ में लिया।

पूर्व रक्षामंत्री ने बीजेपी पर ‘झूठ गढ़ने’ के लिए केंद्रीय एजेंसियों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया। एंटनी ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा, ‘झूठ पर झूठ, वे (बीजेपी) कुछ नहीं से कुछ गढ़ना चाहते हैं। वे झूठ गढ़ने के लिए एजेंसियों का दुरुपयोग कर रहे हैं।’ उन्होंने कहा कि मैं साफ तौर पर कहना चाहता हूं कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने कभी रक्षा सौदों में हस्तक्षेप नहीं किया। रक्षामंत्री के रूप में मेरे पूरे कार्यकाल के दौरान उन्होंने कभी रक्षा सौदों में हस्तक्षेप नहीं किया।

एंटनी ने आगे कहा कि जब रिपोर्ट इटली से आई थी तब उसमें भ्रष्टाचार सामने आया था। तब मैंने ही सीबीआई जांच का आदेश दिया था, इस सरकार ने नहीं। इसके बाद हमारी सरकार ने असामान्य फैसला लेते हुए इटली के कोर्ट में अगुस्टा वेस्टलैंड के खिलाफ केस लड़ने का फैसला किया। अंत में हम केस जीत भी गए। कांग्रेस नेता ने यह भी कहा कि सरकार और बीजेपी एजेंसियों के साथ मिलकर झूठी बातें बना रही है।

उधर, करोड़ों रुपये के अगस्ता वेस्टलैंड सौदा मामले की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने विशेष अदालत को बताया कि मिशेल ने मामले में मिसेज गांधी और एक बड़ा आदमी ‘आर’ का नाम लिया है, जोकि सोनिया गांधी और राहुल गांधी के बारे में मालूम होता है। ईडी के इस खुलासे के बाद बीजेपी गांधी परिवार पर निशाना साध रही है।

मिशेल का संयुक्त अरब अमीरात से इस महीने प्रत्यर्पण होने के बाद बीजेपी गांधी परिवार पर हमले बोल रही है। बीजेपी का दावा है कि ब्रिटिश कारोबारी मिशेल रिश्वत के इस मामले में सोनिया और राहुल के शामिल होने की पोल खोलेंगे। वहीं, कांग्रेस का आरोप है कि नरेंद्र मोदी सरकार गांधी परिवार को निशाना बनाने के लिए केंद्रीय एजेंसी का दुरुपयोग कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here