‘नशामुक्त बिहार’ में BJP सांसद का बेटा शराब पीते गिरफ्तार, मेडिकल जांच के बाद भेजा गया जेल, RJD ने शराबबंदी को बताया ‘ढोंग’

0

बिहार में शराबबंदी लागू हुए 2 साल पूरे हो गए हैं। सूबे में एक अप्रैल, 2016 को शराबबंदी के पहले चरण की शुरुआत हुई थी। इसके पांचवें दिन ही यानी 5 अप्रैल को अचानक सूबे में पूर्ण शराबबंदी की घोषणा कर दी गई थी। शराबबंदी के सख्त कानून ने राज्य के दसियों हजार से ज्यादा लोगों को जेल में डाल रखा है। लेकिन शनिवार (21 अप्रैल) को नीतीश सरकार के दावे की पोल उस वक्त खुल गई, जब उनकी सरकार में गठबंधन पार्टी BJP के एक सांसद का बेटा ही शराब पीते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया गया।

Photo: Social media

जी हां, ‘नशामुक्त बिहार’ के बोधगया में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सांसद हरि मांझी के 18 वर्षीय बेटे राहुल कुमार मांझी को नशे की हालत में गिरफ्तार किया गया है। राहुल बोधगया थाना क्षेत्र के नामा पश्चिमी गांव में अपने साथियों संग शराब पी रहा था। मेडिकल जांच में उसके शराब पीने की पुष्टि हो गई है। जिसके बाद उसे गया जेल भेज दिया गया है। अवैध शराब के ठिकाने पर छापेमारी के दौरान राहुल मांझी को शराब पीते हुए गिरफ्तार किया गया है।

SSP ने की गिरफ्तारी की पुष्टि

हरि मांझी के बेटे की शराब के नशे में गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए गया की वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गरिमा मलिक ने ‘जनता का रिपोर्टर’ से बातचीत में बताया कि पुलिस को सूचना मिली कि राहुल कुमार (हरि मांझी का बेटा) बोधगया के नामा गांव में अपने कुछ दोस्तों के साथ शराब पी रहा है। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शनिवार (21 अप्रैल) शाम को नशे की हालत में उसे गिरफ्तार किया। गौरतलब है कि हरि मांझी गया जिले से सांसद हैं।

SSP ने बताया कि गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने राहुल को मेडिकल टेस्ट और ब्रेथ ऐनलाइजर के लिए भेजा। मेडिकल जांच में राहुल के शराब पीने की पुष्टि हो गई है। शराब पीने की बात की पुष्टि हो जाने के बाद पुलिस ने राहुल को स्थानीय कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेजा दिया गया है। बता दें कि किसी सत्तारूढ़ दल के परिवार वालों के शराबबंदी का उल्लंघन करने के आरोप में हाल में ये सबसे बड़ी गिरफ्तारी है।

RJD ने नीतीश सरकार पर बोला हमला

बीजेपी सांसद के बेटे के शराब के नशे में हुई गिरफ्तारी पर राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) प्रवक्ता और विधायक शक्ति सिंह यादव ने नीतीश सरकार पर जोरदार हमला बोला है। ‘जनता का रिपोर्टर’ से बातचीत में आरजेडी प्रवक्ता ने कहा कि बिहार में शराब लगातार बिक रही हैं और इस खेल में नीतीश सरकार के प्रशासन के लोग शामिल हैं। उन्होंने कहा कि प्रशासन के सहयोग के बिना राज्य में शराब नहीं बिक सकता है।

शक्ति सिंह ने आरोप लगाया कि बिहार में शराब का अवैध कारोबार करीब 1000 करोड़ रुपये का है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के महागठबंधन से अलग होने के बाद शराब के अवैध कारोबार में बेतहाशा वृद्धि हुई है। बिहार में शराबबंदी एक ढोंग बनकर रह गया है। बेटे के शराब के नशे में हुई गिरफ्तारी पर सांसद हरि मांझी द्वारा साजिश बताए जाने के सवाल पर आरजेडी प्रवक्ता ने कहा कि सरकार उनकी है तो आखिर साजिश कौन कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here